कोरोना योद्धा बन उभरा है ट्रेन के चालक व गार्ड



खडगपुर। देश में चल रही इस आपदा की घडी़ में साउथ ईस्टर्न रेल्वे ने जरूरी सामानों, दवाइयों व खाने पीने की चीजों को देश के कोने-कोने में पहुंचाया है।  यह मुश्किल चुनौती साउथ ईस्टर्न रेलवे के चारों डिवीजन के कुल 4946 लोकोपायलट व 2359 गार्डों की भागीदारी से हो पाया।
खड़गपुर के पीआरओ आदित्य चौधरी का कहना है कि खड़गपुर रेल मंडल के लगभग एक हजार लोको पायलट व  गार्डो ने अपनी जिम्मेदारी निभाई। इस लाकडाउन में जहां ज्यादातर लोग अपने घरों मे रह रहे है वहीं यह फ्रंटलाईन कर्मचारी आगे आकर इन विपरीत परिस्थितियों में भी समाज के हित के लिए अपनी ड्यूटी निभा रहे है।
वहीं आरआरआई केबिन व कंट्रोल रूम में काम करने वाले सपोर्टिंग स्टाफ ने भी इस काम में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की जिससे ट्रेन के ड्राईवर व गार्ड्स अपनी ड्यूटी आसानी से कर पाए व ट्रेने भी समय से चली ।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post