कम राशन देने को लेकर डीलर की गिरफ्तारी, सबंग में लाइसेंस रद्द, खड़गपुर सहित जिले भर में विक्षोभ


खड़गपुर। कम राशन देने व भ्रष्टाचार का आरोप लगा राशन को लेकर लोगों  में गुस्सा फुटा वहीं एक राशन डीलर का लाइसेंस निरस्त कर दिया गया जबकि कुछ गिरफ्तारी  हुई है। रविवार की सुबह कलाईकुंडा स्टेशन के पास ट्रेन से अनलोड हुए राशन का चावल लेकर ट्रक जब जाने की कोशिश करने लगे तो भाजपा कार्यकर्ताओं ने ट्कों को रोक विक्षोभ जताया आरोप है कि ट्कों में स्टीकर नहीं लगे थे ऐसे में चावल के तस्करी की आशंका थी पुलिस के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ। भाजपा के प्रदेश नेता तुषार मुखर्जी का कहना है
कि केंद्र सरकार के भेजे गए राशन की तस्करी की आशंका को देखते हुए ट्रकों को रोका गया था। इधर खड़गपुर महकमा के सबंग थाना से खागड़ागेड़िया कृषि उन्नयन समिति के अधीन चल रहे गुरुपद माईति नामक राशन डीलर के खिलाफ लगे घोटाले के आरोप का सबुत मिलने के बाद खाद्य विभाग कि ओर से उसे सस्पेंड कर दिया गया। ज्ञात हो कि जिन कारणों से उसके खिलाफ कार्रवाई की गई उसमें से मुख्य है डीलर के बुक बैलेंस व फिजिकल बैलेंस में बहुत ज्यादा असमानता पाई गई जिसके तहत चावल लगभग 22.5 क्विंटल, गेहूं 28.9 क्विंटल व आटे में 1.554 क्विंटल तक कि कमी पाई गई उसने दो गांवो के लाभार्थियों को राशन से वंचित रखा था। इसके अलावा डीलर ने राशन कार्ड खातों व डेली सेल्स खातों को भी मेंटेन नही किया था। उसने पर्याप्त नोटिस बोर्ड भी नही लगाया था एवं लोगों को अन्नपूर्णा लिस्ट की कोई भी जानकारी नही दी थी।उक्त आरोपों के सही पाए जाने के बाद खड़गपुर महकमा खाद्य अधिकारी कबिरुल इस्लाम ने लाइसेंस रद्द कर दी।

इधर  डीलर के खिलाफ विरोध के बाद मेदिनीपुर कोतवाली पुलिस को राशन शाप मालिक व उसके दो बेटों को हिरासत में लेना पड़ा। उक्त घटना मेदिनीपुर शहर के बनपुरा ग्राम पंचायत के बलबानदीघी गांव का है जहां शेख मोहम्मद इलियाज नामक राशन डीलर के खिलाफ लोगों का गुस्सा तब फूटा जब वह लोगों को निर्धारित माप से कम राशन दे रहा था इसके अलावा लोगों के विरोध करने पर उसके दो बेटे लोगों को डरा धमकाकर शांत कर देते थे अंत में तंग आकर गांववालों ने रविवार को उसके घर पर जाकर विरोध प्रदर्शन करना शुरु कर दिया। सूचना मिलने पर पुलिस वहां पहुंची व लोगों को समझा बुझाकर शांत कराया एवं आरोपियों को हिरासत में ले थाने ले गई। हांलाकि न्यायालय में पेश करने पर जमानत मिल गई जिससे लोगों में रोष है लोगों का आरोप है कि सत्ताधारी दल का संरक्षण होने के कारण इन लोगों को जमानत मिली। ज्ञात हो कि इससे पहले भी शनिवार को पास के ही बनपुर गांव में आशादुल हक नामक राशन डीलर के खिलाफ भी वही आरोप लगा था जबकि ग्वालतोड़ में एक एमआर शाप मालिक को पुलिस ने गिरफ्तार किया लेकिन इस घटना के बाद भी अन्य राशन डीलरों ने सबक नही ली।



0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

Advisement

KGP News
KGP News