मुंबई- न्यू  कूचबिहार श्रमिक स्पेशल ट्रेन खड़गपुर पहुंची, 528 यात्री उतरे मेडिकल जांच व खाना देने के बाद घरों के लिए किया गया रवाना, प्राइवेट ट्यूटर की फांसी के फंदे में झुलती हुई लाश मिलीमां को लेकर भ्रमण कर रहा युवक खड़गपुर पहुंचा


खड़गपुर। मुंबई  से न्यू कूचबिहार जाने वाली स्पेशल ट्रेन आज रात खड़गुर पहुंची जिसमें से कुल 528 यात्री जो कि चेन्नई या आसपास इलाके में फंस गए थे वापस पुहंचे। यात्रियों का खड़गपुर महकमा अस्पताल में रैपिड टेस्ट करा खाना खिला बस से लोगों को उसके गंतव्यों तक छोड़ा गया। पता चला है कि मंगलवार की सुबह ट्रेन संख्या 01926 व 09243 खड़गपुर स्टेशन में ठहरेगी व खड़गपुर व आसपास के यात्री यहां उतरेंगे। खड़गपु रेल स्टेशन में राजकीय रेल पुलिस के जवानों आरपीएफ के साथ मिलकर सुरक्षा का दायित्व संभाला था।
प्राइवेट ट्यूटर की फांसी के फंदे में झुलती हुई लाश मिली
खड़गपुर। पश्चिम मेदिनीपुर जिले के घाटाल के मनसुखा गांव में अनुप माईति नामक प्राइवेट ट्यूटर की लाश उसके घर के समीप झाड़ी में फांसी के फंदे में झुलती हुई मिली। पुलिस को सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है हांलाकि पुलिस इस बारे में प्रतिक्रिया नहीं दी है। लाश को बरामद कर अंत्ययपरीक्षण कराया गया। पता चला है कि ट्यूटर का घर की मरम्मत में कुछ कर्ज हो गया था व बीते दो महीने से ट्यूशन ना पढ़ा पाने से अनुप मानसिक तौर पर परेशान था लोगों का मानना है कि लाकडाउन के लंबे खींचे जाने से त्रस्त हो युवा ने आत्महत्या की।

 मां को लेकर  भ्रमण कर रहा युवक खड़गपुर पहुंचा
खड़गपुर। अपनी मां को लेकर स्कुटर से देश विदेश की यात्रा पर निकले मैसूर के रहने वाले डी. कृष्णा कुमार लाकडाउन की वजह से दार्जिलिंग में फंस गए थे बाद में प्रशासन की मदद से उन्हें मूवमेंट पास मुहैया कराया गये। जिसके बाद आज कृष्णा कुमार अपनी मां के साथ खड़गपुर पहुंचे जहां पत्रकारों से बातचीत के बाद वह उड़ीसा की ओर निकल गए जहां से भुवनेश्वर होते भी वे मैसूर अपने घर कि ओर चले जाएंगे। खड़गपुर में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कृष्णा कुमार ने बताया कि वे साल 2018 के जनवरी महीने से अपनी मां को स्कूटर पर लेकर भारत भ्रमण के लिए निकले थे इन लगभग ढाई सालों में उन्होंने अब तक कुल 54 हजार 122 किलोमीटर का सफर तय किया व भारत के अलावा वे नेपाल, भूटान, म्यांमार भी घूम आए।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post