भारती ने बुद्धजीवियों के चुप्पी पर उठाए सवाल, कहा जनहित में आगे आएं




खड़गपुर। भाजपा की प्रदेश उपाध्यक्ष व पूर्व आईपीएस भारती घोष सोमवार  एक वीडियो संदेश जारी कर राज्य के बुद्धिजीवियों को कोरोना के इस संकट के समय लोगों के साथ खड़े रहने की अपील की। भारती ने कहा कि हर दिन राज्य में चावल चोरी की घटना सुनने को मिल रही है कोरोना चिकित्सा क्षेत्र में रोगियों को बेड नही मिल रहा है बेड मिलने पर ठीक से इलाज नही हो रहा है। उन्होनें कहा कि इलाज करा कर लौटने के दौरान उड़ीसा-बंगाल सीमा पर रोगी व उनके परिजनों को पांच दिन से रोककर रखा गया था बाद में मीडिया द्वारा खबर दिखाने पर लोगों का स्वास्थ्य जांच कर उन्हें घर पहुंचाया गया। उन्होनें बताया कि दिल्‍ली के एम्स अस्पताल में ब्रेन कैंसर द्वारा पति की मौत होने पर उसका शव लेकर लौट रही महिला को कोरोना निगेटिव सर्टिफिकेट तथा मूवमेंट पास होने से बाद भी झारखंड-बंगाल सीमा पर घंटो रोका गया। इसके अलावा उन्होनें कहा कि बंगाल में काम ना मिलने पर काम कि तलाश में दूसरे राज्य गए हजारों लोग इस वक्त फंसे हुए है लेकिन राज्य सरकार उन्हें वापस लाने कि कोई ठोस कदम नही उठा रही है। उन्होनें बुद्धिजीवियों से पूछा वे लोग हर विषय पर कुछ ना कुछ बोलते रहते है तो इस समय चुप क्यों है जबकि अभी राज्य में गरीब लोगों का अधिकार छिना जा रहा है अभी उनलोगों को आगे आकर इसका विरोध करना चाहिए जनहित में आगे आना चाहिए।



0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post