खड़गपुर के इन राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने लॉक डाउन में जो किया , उसे सराहे बिना नहीं रह सकते !!


                         तारकेश कुमार ओझा 
खड़गपुर : प्रेस , पुलिस और पॉलिटिशियंस . विडंबना है कि समाज हित में  ये चाहे जितने सक्रिय रहें , ज्यादा नोटिस नहीं लिया जाता . बल्कि इनके हिस्से में  ज्यादातर कटु आलोचना , भर्तेसना और निंदा ही आती है . कई बार उनकी निष्ठा , सेवा और समर्पण को भी संदेह की  निगाहों से देखते हुए या तो खारिज कर दिया जाता है या फिर नौटंकी कह कर हम मुंह बिचका लेते हैं. लेकिन वास्तविकता है कि कोरोना काल में  शहर के कई राजनैतिक संगठनों ने बेहतरीन कार्य किया है . सुभाष लाल , केया  सितदे , गोपेंदु  महापात्र , प्रदीप , शर्मा दा और आरती सिंह समेत कई ऐसे नाम हैं जिन्होंने कोरोना संकट में लोगों के पास खड़े होने की  कोशिश की  है . वार्ड २८ और आस - पास के  छोटे दायरे में ही सही लेकिन इन लोगों ने गरीब व असहाय लोगों के बीच तकरीबन ९५० पैकेट खाद्य सामग्री का  वितरण किया है . इससे ४८५ घर या यूं कहें परिवार लाभान्वित हुए हैं. इन लोगों ने यह कार्य प्रगति व अन्य संस्थाओं के  बैनर तले किया है . बेशक लॉक डाउन के दौरान लोगों के  बीच जाकर कल्याण मूलक कार्य करने वाले राजनैतिक संगठनों व कार्यकर्ताओं की  सूची बहुत लंबी है , लेकिन उन संगठनों व कार्यकर्ताओं को जीवटता  का  श्रेय अधिक जाएगा जो हाशिए पर पड़े हैं . क्योंकि उनके लिए संसाधनों का  जुगाड़ अधिक मुश्किल और चुनौती पूर्ण है . कोरोना जैसे अभूतपूर्व संकट के  दौरान किसी भी स्तर पर लोगों के  बीच जाकर सहायता व अन्य परोपकार के  कार्य करने वालों की  सराहना से हमें इसलिए मुंह नहीं चुराना चाहिए क्योंकि उनका संबंध किसी राजनैतिक दल से है .

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post