खड़गपुर वर्कशाप के कैरेज स्टोर्स में लगी आग, करोड़ो का नुकसान आग को काबू पाने के लिए पांच दमकल ने किया घंटो मशक्कत शुक्रवार से होना था सामान्य कामकाज, मात्र एक दमकल से चलता है रेल की सुरक्षा वयवस्था


खड़गपुर। खड़गपुर वर्कशाप के कैरेज स्टोर्स में आग लग जाने से करोड़ो की संपत्ति के नुकसान होने की आशंका है दमकल की मदद से आग पर काबू पाया गया हांलाकि मंगलवार देर रात लगे आग से धुंआ बुधवार की देर रात तक देखा गया। जानकारी के मुताबिक खड़गपुर रेल वर्कशाप के कैरेज स्टोर्स, इलेक्ट्रिक फैन फिटिंग स्टोर व ठेकेदार संस्था हिंदुस्तान फाईबर कंट्रेक्टर स्टोर में आग लग गई जो कि घंटो चली दमकल की सहायता से आग पर काबू पाया गया। आरपीएफ का कहना है कि हमारे जवान सुबह जब पेट्रोलिंग कर रहे थे तब लगभग साढें चार बजे देख कर खबर दी गई तो सुबह पांच बजे से दमकल ने आग पर काबू पाना शुरु किया। कुल पांच दमकल की मदद से आग पर काबू पायया गया। खड़गपुर वर्कशाप के एक, झपाटापुर से दो व एक एयरफोर्स व एक मेदिनीपुर के दमकल को लगाया गया। मेदिनीपुर दमकल विभाग के कर्मी नेमानिक लाल दे ने बताया कि दोपहर में आग पर काबू पा लिया गया लेकिन शाम में वे लोग चले गए हांलाकि देर रात तक धुंआ देखा गया व काम चलता रहा। रबर, रेक्सिन जैस सामान होने के कारण देर तक जलता रहा। खड़गपुर वर्कशाप के सीडब्लयुएम एस के चौधरी ने बताया कि सुबह गश्ती कर रहे आरपी एफ जवानों ने कैरेज स्टोर्स के सब स्टोर में आग का धुंआ निकलते देख खबर दी तो दमकल की मदद से आग पर काबू पाया गया। उन्होने कहा कि आर्थिक क्षति व आग लगने के कारण का पता जांच के बाद चल पाएगा हांलाकि क्षति ठेकेदार संस्था की ज्यादा हुई है चौधरी ने बताया कि लाकडाउन के बीच भी उक्त जगह पर काम होता रहा है।

ज्ञात हो कि गुरुवार से 50 फीसदी लोगों को लेकर काम शुरु होना है उसके पहले ही आंफान के बीच यह विपद आ गया। आशंका है कि शार्ट सर्किट के कारण देर रात ही अगलगी की घटना हुई है। ज्ञात हो कि उक्त जगह पर इएमयू, पैसेंजर व एसी बोगी का काम भी होता है जिसके कारण प्लाईवुड, रबर के सामान, रंग वार्निश लकड़ी के सामान गोदाम में काफी मात्रा में थे।इधर पूरे खड़गपुर वर्कशाप व रेल मंडल मुख्यालय के लिए मात्र एक इंजन से काम होने से रेल युनियन व रेल कर्मी क्षुब्ध है रेलकर्मियों का कहना है कि रेलवे ने अपने दमकल विभाग बंद कर दिए हैं व कांट्रेक्ट आधार पर काम चला रहे हैं कुल दो में से एक दमकल खराब पड़े हैं नहीं तो नुकसान को कम किया जा सकता था।रात्रि में उक्त जगह पर कोई नहीं रहते अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था।   

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post