पश्चिम मेदिनीपुर जिला पुलिस ने एक दिन का वेतन, मुख्यमंत्री राहत कोष में 25 लाख 25 हजार दान दिया, आंफान को देखते हुए जिला प्रशासन तैयारी में जुटा

रघुनाथ प्रसाद साहू
खड़गपुर। पश्चिम मेदिनीपुर जिला पुलिस की ओर से मुख्यमत्री राहत कोष में 25 लाख 25 हजार रु दान दिया गया। एसपी दीनेश कुमार ने डीएम कार्यालय में जिलाशासक रेशमी कमल के हाथ में 25 लाख 25 हजार का चेक सौंपा जबकि मेदिनीपुर जिला परिषद के अध्यक्ष अजित माईति ने खड़गपुर दो नंबर पंचायत समिति की ओऱ से 75 हजार रु का चेक मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए जिलाशासक के हाथों सौंपा। जिलाशासक रेशमी कमल इस अवसर पर कहा पुलिस ने 25 लाख का चेक मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए सौंपा है। जिलाशासक रेशमी ने बताया कि आंफान को देखते हुए  कुल 12 राहत दल की टीम जिला में आ गई है। उन्होने कहा कि समुद्री तट से नजदीक होने के कारण खड़गपुर महकमा के दांतन व मोहनपुर ब्लाक में ज्यादा क्षति देखी गई है इसलिए उक्त इलाके के लोगों को सुरक्षित स्थानों  में ले जाने की व्यवस्था की जा रही है ताकि ज्यादा जान माल का नुकसान ना हो उन्होने कहा कि चूंकि कोरोना का दौर है इसलिए राहत शिविर में भी ज्याद लोगों को एक साथ नहीं रख सकते अन्यथा सोशल डिस्टेंसिंग की समस्या उत्पन्न हो जाएगी। ज्ञात हो कि उड़ीसा सीमांत होने के कारण दांतन इलाके में पहले से ही क्वारेंटाईन सेंटर खोले गए हैं इधर उड़ीसा सरकार ने तटीय इलाकों से क्वारेंटाइन सेंटर को हटाने का निर्णय लिया है। इधर पूर्व मेदिनीपुर जिलाशासक ने भी आंफान को लेकर तैयारियां पूरी करने की बात कहा है। जिलाशासक का कहना है कि मछुआरों को सतर्क कर दिय गया है व एनडीआरएफ की टीम बचाव कार्य के लिए पुहंच गई है दीघा व आसपास के इलाके में राहत सामग्री पहुचा दी गई है जिला प्रशासन की ओर से तटीय इलाके के लोगों को सुरक्षित स्थानों में पहुंचा दिए गए लोगों को खाना देने के लिए एनजीओ को कह दिया गया है। हल्दिया कोस्ट गार्ड की टीम भी आंफान के चुनौती से निबटने के लिए तैयार है। इधर दीघा के साथ दक्षिण चौबीस परगने के समुद्री तटीय इलाकों में आज माईकिंग कर लोगों को सतर्क किया गया। 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post