स्कुलों में खुले क्वारेंटाईन सेंटर, बसों में ठूंस कर श्रमिकों को भेजने का आरोप, ट्रेनों व बसों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ना होने का आरोप


खड़गपुर। खड़गपुर सहित जिले भर के चुनिंदा स्कुलों को क्वारेंटाईन सेंटर में बदला जा रहा है खड़गपुर नगरपालिका इलाके में बाहर से आए श्रमिकों के रहने के लिए क्वारेंटाईन सेंटर बनाया गया है इधर ट्रेन से लौटे श्रमिकों को बसों में ठूंस ठूंस कर भर उसके गंतव्य की ओर भेजा जा रहा है। हितकारिणी हाई स्कुल, प्रियनाथ स्कुल, तेलुगु विद्यापीठम, साउथ साइड हाई स्कुल, सिलवर जुबिली हाई स्कुल सहित कई स्कुलों में क्वारेंटाईन सेंटर खुलने की खबर है। टीएमसी पार्षद देबाशीष चौधरी ने बताया कि स्कुलों में क्वारेंटाईन सेंटर बनाया जा रहा है जिसमें पांच से छह बेड की व्यवस्था की जा रही है ताकि श्रमिक अपने इलाके में रह सके। ज्ञात हो कि बाहर से लगातार आ रहे ट्रेनों से प्रशासन की ओर से खड़गपुर आईआईटी व खड़गपुर कालेज में बनाए गए क्वारेंटाईन सेंटर में जगह नहीं बची है जिसके कारण स्कुलों में श्रमिकों को ठहराया जा रहा है। इधर महाराष्ट्र, गुजरात, मप्र, तमिलनाडु व राजस्थान से आ रहे श्रमिकों के उंगलियों पर स्याही से मार्किंग किया जा रही है लरेगा उस वक्त ही उसकी उंगलियों पर उसके मौजूदा स्वास्थ्य लक्षण के अनुसार मार्किंग कर दिया जा रहा है। जिले के मुख्य स्वास्थय अधिकारी ने बताया यह मार्किंग तीन तरह का होगा एक जिसको होम क्वॉरेंटाइन में भेजा जाएगा दूसरा जिनको सरकारी क्वॉरेंटाइन सेंटर में भेजा जाएगा व तीसरा संक्रमित लोगों के लिए होगा इधर कई श्रमिकों ने ट्रेनों व बसों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ना हो पाने का आरोप लगाया।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post