अंफान के प्रकोप से रिजर्वरेशन काउंटर सेवा बाधित हुआ कई जगहों पर दोपहर में शुरु हो सका कामकाज ज्यादातर लोग रिफंड कराने आए थे लौटना पड़ा निराश


खड़गपुर।  अंफान के प्रकोप से रिजर्वरेशन काउंटर सेवा में कामकाज बाधित हुआ कई जगहों पर दोपहर में शुरु हो सका कामकाज। ज्यादातर लोग रिजर्वरेशन कराने के बजाय रिफंड कराने आए थे पर रिफंड सेवा शुरु ना होने से कई लोगों के निराश हो लौटना पड़ा। ज्ञात हो कि भारतीय रेल 1 जून से नियमित तौर पर देशभर में कुल 200 ट्रेनें चला रही है उन ट्रेनों में रिजर्वरेशन के लिए शुक्रवार से कई प्रमुख स्टेशनो में काउंटर स रिजर्वरेशन कराने की सुविधा दी है। जिसमें दपूरेलवे में टिकट आरक्षण के लिए हावड़ा, शालीमार, खड़गपुर, हिजली, मेचेदा, बालासोर, राउरकेला, घाटशिला, चांडिल, टाटानगर, बोकारो, चक्रधरपुर, बड़बिल, सीनी, चाईबासा, रांची, हटिया, मुरी, डांगवापोसी झारसुगुड़ा, बामरा, पुरुलिया, बाराभूम, बर्नपुर व जयचंडी पहाड़ शामिल है।खड़गपु स्टेशन में दोपहर लगभग एक बजे पहुंचने पर पता चला कि तकनीकी दिक्कत के काऱण रिजर्वरेशन काम नहीं हो पा रहा है इक्के दुक्के लोग दिखे भी तो उसमें रिफंड चाहने वालों की संख्या ज्यादा थी। पता चला है कि हिजली स्टेशन सुबह 8 बजे के बजाय लाकडाउन के काऱण विशेष परिस्थिति में सुबह 8 से शाम 8 बजे तक रिजर्वरेशन काउंटर खोलने का समय तक किया गया है इधर लोगों में ठीक से प्रचार ना होने के कारण 12 घंटे में सिर्फ 9 टिकट ही हिजली स्टेशन से बेच पाई रेल। खड़गपुर के सीनियर डीसीएम आदित्य चौधरी ने बताया कि दो महीने तक लाकडाउन में सिस्टम बंद पड़ी थी इसके अलावा अंफान तूफान के कारण हावड़ा सहित कुछ जगहों में लागइन की दिक्कतें आई हांलाकि कामकाज आज सभी रिजर्वरेशन काउंटर में हुआ। ज्ञात हो कि रेल 200 घोषित ट्रेनों के लिए 30 दिन पहले तक की रिजर्वरेशन करा रही है इसके अलावा स्पेशल ट्रेनों में भी अब 7 के बजाय तीस दिन पहले तक का रिजर्वरेशन होने की खबर है।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post