पश्चिम मेदिनीपुर जिले में बीते 36 घंटे में 11 लोग कोरोना पाजिटिव, पीड़ित लोगों में ज्यादातर बाहर से वापस घर आए श्रमिक हैं

                          रघुनाथ प्रसाद साहू
खड़गपुर। पश्चिम मेदिनीपुर जिले में अब तक का रिकॉर्ड बनाते हुए डेढ़ दिन में कुल 11 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए है जिसने जिले के लोगों व प्रशासन के लिए चिंता बढ़ा दी है।
ज्ञात हो कि घाटाल महकमा इलाके में 14 दिन क्वॉरेंटाइन में रहने के बाद वापस घर लौटे 8 प्रवासी श्रमिक तीन दिन बाद ही कोरोना पॉजिटिव पाए गए। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि घर लौटने के बाद यह परिवार, दोस्तों व इलाके के लोगों से मिले होंगे जिनसे संक्रमण बढ़ने का खतरा और भी हो सकता है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक बीते दिनों दिल्ली, मुंबई व अहमदाबाद से लौटने के बाद इन श्रमिकों को सरकारी क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा गया था जहां 17 मई को सैंपल जांच के लिए लिया गया। बाद में नियमानुसार 14 दिन पूरे होने पर भी कोरोना के कोई लक्षण ना दिखने पर श्रमिकों को घर भेज दिया गया। बाद में 1 जून को आई रिपोर्ट में वे कोरोना पॉजिटिव पाए गए जिसके बाद तुरंत उन्हें घर से बरामद कर कोविड अस्पताल में भेज दिया गया व उनके इलाके को चिन्हित कर कंटेंनमेंट जोन में बदला गया साथ ही उनके संपर्क में आए हुए लोगों की भी पहचान कर उन्हें क्वॉरेंटाइन सेंटर भेजने का काम जारी है। इसके अलावा जिले में सालबनी, सबंग व खड़गपुर से भी एक-एक संक्रमण की खबर आई है जिसके बाद जिले में बीते 36 घंटे में ही रिकॉर्ड 11 लोग संक्रमित पाए गए। आशंका जताई जा रही है कि जिस संख्या में प्रवासी मजदूर जिले में वापसी कर रहे हैं ऐसे में यह रिकॉर्ड और भी तेजी से बढ़ सकता है। वहीं एक जून से लाकडाउन में छूट दिए जाने के बाद से लोग बड़ी संख्या में घरों से बाहर निकल सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन कर बाजारों व अन्य सार्वजनिक जगहों पर भीड़ लगा रहे हैं ऐसे में प्रशासन के सामने पूरे हालात को नियंत्रण में रखना आसान नहीं नहीं लग रहा।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post