ट्रेनें तो चलीं पर अभी लोकल के लिए ना हों वोकल ...!!


                      तारकेश कुमार ओझा
 खड़गपुर : देश के  विभिन्न भागों के  साथ ही दच्छिण पूर्व रेलवे में  भी सोमवार से ट्रेनों का आंशिक परिचालन शुरू हो गया है . चलने वाली ट्रेनें श्रमिक स्पेशल के  अतिरिक्त है . लेकिन इसी के  साथ लोगों खासकर यात्रियों में   पूर्ण परिचालन खास तौर से लोकल ट्रेनों के  परिचालन की  उम्मीदें भी की जाने लगी है . क्योंकि लोकल ट्रेनें महानगर और उपनगरीय इलाकों के  लिए लाइफलाइन का  कार्य करती है . हजारों की  संख्या में  यात्री यातायात के  लिए लोकल ट्रेनों पर निर्भर करते हैं. लोकल ट्रेनों में  विभिन्न चीजों की  बिक्री से सैकड़ों की  संख्या में  हॉकरों की  रोजी - रोटी भी चलती है . जबकि लॉक डाउन -१ से ही तमाम पैसेंजर ट्रेनों के  साथ ही लोकल ट्रेनों का  परिचालन भी बंद है . अलबत्ता रेल महकमे की  ताजा विग्यप्ति से स्पष्ट है कि फिलहाल लोकल ट्रेनों के  लिए वोकल होना बेकार है . महकमे की  ओर से जारी विग्यप्ति के  मुताबिक दच्थिण पूर्व रेलवे की  तमाम नियमित पैसेंजरों ट्रेनों  के  साथ ही सभी ईएमयू , मेमू  व डेमू लोकल ट्रेनें आगामी आगामी ३० जून तक रद रहेगी . कोरोना संकट के  बीच लोकल ट्रेनों के  परिचालन की संभावना पर भी अलग बहस छिड़ी हुई है . एटक  नेता विप्लव भट ने कहा कि जून में  कोरोना के  पीक पर रहने का  अंदेशा है , ऐसे में  आर्थिक पहलू के  लिए लोगों के  जीवन से खिलवाड़ नहीं होना चाहिए . क्योंकि लोकल ट्रेनों में  सोशल डिस्टेंसिंग  समेत  तमाम जरूरी  नियमों का  पालन मुश्किल है . लिहाजा किसी प्रकार के  जोखिम से बचा जाना चाहिए।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post