दो साल बाद कोलकाता स्थित घर में प्रवेश की भारती, सीआईडी ने सील कर रखा था घर को अदालत के आदेश पर मिली चाबी, सीआईडी से परेशानी की आशंका, पेंशन सुविधाएं चालू ना होने का दावा

 

खड़गपुर। दो साल बाद कोलकाता स्थित अपने घर में प्रवेश की भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष व पूर्व एसपी भारती घोष। आर्थिक अपराध की जांच कर रहे सीआईडी ने सील कर रखा था कोलकाता स्थित घर को मिदनापुर अदालत के आदेश पर जाबी मिलने पर वह पति के साथ घर में प्रवेश की। ज्ञात हो कि साल 2018 के फरवरी महीने से सीआईडी द्वारा भाजपा नेत्री व पूर्व आईपीएस भारती घोष के सील कर रखे गए घर की चाबी 1 जून को भारती घोष को सोमवार की रात सौंप दी  जिसके बाद आज मंगलवार को भारती अपने पति के साथ 2 साल के बाद अपने घर में प्रवेश किया। ज्ञात हो कि फरवरी महीने में मेदिनीपुर सेशन कोर्ट के एडिशनल जज ने सीआईडी को यह आदेश दिया था कि भारती घोष की चल व अचल सभी तरह की संपत्ति जो सीआईडी के कब्जे में है बिना देर किए तुरंत उन्हें वापस लौटाया जाए। भारती घोष ने एक प्रेस रिलीज जारी कर बताया कि अदालत के आदेश के बाद भी अभी तक सीआईडी की ओर से उनकी घर की चाबी लौटाई नही गई थी जिसके काऱण वह अपने घर नहीं जा सके थे। उन्होंने बताया कि मार्च महीने में पूछताछ के नाम पर सीआईडी ने उन्हें अपने दफ्तर बुलाया था व आठ घंटे बेवजह बैठा कर रखा था व फिर बिना कुछ पूछे ही छोड़ दिया। भारती घोष ने  प्रेस रिलीज के माध्यम से बताया सीआईडी की ओर से एक चिट्ठी भेजा गया था जिसमें सीआईडी दफ्तर आकर घर की चाबी ले जाने की बात कही गई। चाबी लेने के बाद मंगलवार को भारती घोष अपने पति के साथ पूरे 2 साल बाद अपने घर में प्रवेश करी व उन्होंने आशंका जताई कि आगे भी भविष्य में किसी वजह को लेकर सीआईडी उन्हें व उसके पति को परेशान कर सकती हैं।भारती का कहना है कि स्वैच्छिक त्यागपत्र देने के बावजूद अभी तक पेंशन व अन्य सुविधाएं शुरु नहीं हुई है।ज्ञात हो कि भारती के खिलाफ अदालत में मामले लंबित है भारती को उम्मीद है कि वह अपने ऊपर लगे सभी आरोपों से मुक्त होगी।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

Advisement

KGP News
KGP News