आरएमपी, क्वाक डॉक्टरों व दवा विक्रेताओं के साथ खड़गपुर पुलिस प्रशासन की बैठक, मांगी रोगियों की सूची, बुखार व एंटीबायोटिक बिना प्रेसक्रिप्शन बेचने पर रोक

                          रघुनाथ प्रसाद साहू
खड़गपुर। आरएमपी, क्वाक व दवा विक्रेताओं के साथ खड़गपुर पुलिस प्रशासन की बैठक हुई जिसमें पुलिस प्रशसान ने मांगी रोगियों की सूची व दवा विक्रेताओं को बुखार व एंटीबायोटिक दवा बिना प्रेसक्रिप्शन बेचने की मनाही की। ज्ञात हो कि बीते कई दिनों से लगातार हो बढ़ रही कोरोना पाजिटिव रोगियों की संख्या से प्रशासन चिंतित है व उसने नकेल कसने के लिए क्वाक की बैठक की। जिसमें डाक्टरों से कहा गया कि वे लोग बीते दस दिनों में खांसी सर्दी व बुखार से पीड़ित लोगों के इलाज किए हैं व वे अगर संदिग्ध है तो ऐसे लोगों की सूची दे ताकि उनलोगों का कोविड -19 के लिए सैंपल लिया जा सके। इसके अलावा आने वाले दिनों के लिए भी रिकार्ड मेंटेन करने को कहा ताकि संदिग्धों की पहचान की जा सके। इसके अलावा दवा विक्रेता भी बैठक में शामिल हुए जिसमें बुखार व एंटीबायोटिक दवा बिना प्रेसक्रिपशन के ना देने को कहा गया पुलिस का मानना है कि लोग बुखार का दवा खा बीमारी को छिपा घूम रहे हैं जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ गया है।
बैठक में एएसपी काजी शमसुद्दीन अहमद, एसडीपीओ सुकमल कांति दास व थाना प्रभारी राजा मुखर्जी शामिल हुए। डा. अर्शद ने बताया कि पुलिस ने कुछ नियम मानने को कहा है ताकि रोगियों की शिनाख्त की जा सके जिसे मानने के लिए व लोग तैयार है ज्ञात हो कि ज्यादातर एमबीबीएस डाक्टर लाकडाउन के समय से ही चेंबर नहीं कर रहे हैं जिसके कारण आरएमपी व अन्य डाक्टर के पास ही रोगी इलाज के लिए जा रहे हैं। ड्रग विक्रेता दिलीप प्रमाणिक का कहना है कि पुलिस का पहल ठीक है पर बिना प्रेसक्रिपशन दवा ना बेचने की बात अव्यवहारिक है खड़गपुर शहर थाना प्रभारी राजा मुखर्जी ने कहा कि दिशा निर्देशों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्ऱवाई की जाएगी। 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post