चांदमारी अस्पताल के कैंटीन इलाके को बनाया गया कंटेनमेंट जोन देबलपुर में हुआ सेनिटाइजेशन, डीएम से शिकायत किया था लोगों ने


                          रघुनाथ प्रसाद साहू
खड़गपुर। चांदमारी के कैंटीन से कोरोना रोगी पाए जाने  के बाद प्रशासन की ओर से अस्पताल कैंटीन इलाके को सील कर कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है व कैंटीन के बंद हो जाने के कारण रोगियों को खाने की व्यवस्था करने को मंगलवार को ही कह दिया गया था। इधर कोरोना रोगी पाए जाने के कारण आज अस्पताल में लोगों की भीड़ कम रही। एक सप्ताह से अधिक का समय गुजर जाने के बाद आज से प्रवासी मजदूर जो कि लाक्षणिक है ऐसे लोगों को सैंपल संग्रह शुर कर दिया गया है। चांदमारी अस्पताल के अधीक्षक कृष्णेंदु मुखर्जी ने बताया कि प्रतिदिन दस से पंद्रह लाक्षणिक लोगों के ही सैंपल लिए जाएंगे। ज्ञात हो कि बड़ी संखया में प्रवासी मजदूरों के आने व अस्पताल में टेस्टिंग सुविधा कम होने के कारण लोगों के कोरोना जांच रिपोर्ट में दस- बारह दिनों की देरी हो रही थी जिसके कारण सैंपल कलेक्शन बंद कर दिया गया था। इधर देबलपुर में आज प्रभावित इलाकों का दमकल वाहन से सेनिटाइज किया गया।
ज्ञात हो कि बीते दिनों एक व्यक्ति की कोरोना से मौत हो जाने के बाद इलाके के लोग सेनिटाइजेशन की मांग कर रहे थे कई स्थानीय लोग जिलाशासक रेशमी कमल को मंगलवार को ज्ञापन दे अविलंब सेनिटाइजेशन कराने की मांग की थी। इधर पुलिस प्रशासन होम क्वारेंटाइन में रहने वाले लोगों के घर जाकर स्टीकर लगाया व उसके घर में कितने दिनों के लिए कितने लोग क्वारेंटाईन में रह रहे हैं इसकी शिनाख्ती के लिए घरों में स्टीकर लगाए। जबकि मुंबई सहित अन्य जगहों से आए लोगों को क्वारेंटाईन सेंटर में भेजने की मांग को लेकर आज कई जगहों में लोगो ने विरोध जताया। भगवानपुर व गाटरपाड़ा इलाके में मुंबई से आए लोगों को होम क्वारेंटाइन में भेजे जाने पर लोगों ने आपत्ति जताई तो भाजपा नेता अभिषेक अग्रवाल व अमरजित सिंह ने बाहर से आए मजदूरों को थाना ले गई जहां से इंस्टीट्यूशलन क्वारेंटाइन में भेज दिया गया।   

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post