खड़गपुर महकमा अस्पताल में होगा कोरोना का इलाज आइसोलेसन वार्ड को किया जाएगा कोविड वार्ड, तीस बेड का होगा अस्पताल पश्चिम मेदिनीपुर जिले में 400 बेड की हो रही व्यवस्थाः सीएमओएच सीएमओएच सहित स्वास्थय अधिकारियों ने किया महकमा अस्पताल का दौरा, हुई बैठक चंद्रकोणा तबादला होगा टीबी रोगियों काः कृष्णेंदु मुखर्जी


रघुनाथ प्रसाद साहू

खड़गपुर। अब खड़गपुर महकमा अस्पताल में भी होगा कोरोना का इलाज जिसे लेकर रविवार को सीएमओएच सहित स्वास्थय अधिकारियों ने महकमा अस्पताल का दौरा किया व बैठक की। ज्ञात हो कि चांदमारी के आइसोलेसन वार्ड को कोविड वार्ड में तब्दील किया जाएगा व तीस बेड का होगा अस्पताल जबकि जिले में 400 बेड की हो रही व्यवस्था। जिले के मुख्य स्वास्थय अधिकारी निताई चंद्र मंडल के नेतृत्व में स्वास्थय अधिकारियों ने दौरा किया इस अवसर पर नवनियुक्त सीएमओएच मंडल ने बताया कि आइसोलेशन वार्ड के प्रथम तल को कोविड अस्पताल में परिवर्तित किया जा रहा है कुल 30 बेड की व्यवस्था की जाएगी प्रथम चरण में 20 बेड होगी अस्पताल में जिसमें खड़गपुर व महकमा के आसपास के थानों के रोगियों का होगा इलाज। उपमुख्य स्वास्थय अधिकारी सौम्य शेखर षाड़ंगी ने बताया कि खड़गपुर में माइल्ड सिम्पटोमेटिक रोगी को ही रखा जाएगा इसलिए इसे कोरोना अस्पताल के लेवल में वर्गीकृत नहीं किया जा रहा है इसे सेफ होम कहा जा सकता है। उन्होने बताया कि बढ़ते हुए रोगियों की संख्या को देखते हुए पश्चिम मेदिनीपुर जिले में कुल 400 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था की जा रही है जिसमें से शालबनी में 150 बेड, ग्लोकल में 50, आयुष में 80 घाटाल में तीस बेड होगा व अन्य अस्पतालों में बेड बढ़ाई जा रही है।
खड़गपुर महकमा अस्पताल के रोगी क्लयाण समिति के अध्यक्ष निर्मल घोष ने बताया कि माइल्ड सिम्पटोमेटिक या ऐसे रोगी जो कि संदिग्ध कोरोना रोगी है उनका इलाज होगा उन्होने कहा कि चूंकि घर में क्वारेंटाइन रहने से परिवार पीड़ित हो सकते हैं इसलिए हल्के लाक्षणिक रोगियों को यहां रखा जाएगा। ज्ञात हो कि चांदमारी के आइसोलेशन वार्ड के प्रथम तल में फिलहाल 53 बेड है जिसमें 26 टीबी रोगी व दो-एक डायरिया रोगी है। खड़गपुर महकमा अस्पताल के अधीक्षक कृष्णेंदु मुखर्जी का कहना है कि जो टीबी रोगी ठीक है उन्हें घर भेजा जाएगा जबकि बाकी को चंद्रकोणा के टीबी अस्पताल में स्थानांतरण किया जाएगा। उन्होने बताया कि वार्ड में एसी लगाने सहित अन्य सुविधाएं बढ़ाई जाएगी ताकि जल्द इलाज शुरु हो सके। इस अवसर पर एसडीओ वैभव चौधरी व अन्य स्वास्थय अधिकारी भी उपस्थित थे। इधर मेदिनीपुर के पैरामेडिकल कॉलेज में भी कोरोना के इलाज के  लिए व्यवस्था की जा रही है। 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post