मेदिनीपुर जेल में सजायाफ्ता कैदी ने फांसी लगा आत्महत्या की, परिजनों का आरोप मुख्तार की हत्या हुई है , छह माह बाद बलात्कार के आरोप में सजा पूरा होने पर होनी थी रिहाई


खड़गपुर। जेल में 10 साल से अपने गुनाह कि सजा काट रहा कैदी सजा की मियाद पूरे होने के 6 महीने पहले ही उसने मेदिनीपुर जेल परिसर में ही फांसी लगा आत्महत्या कर ली। मृतक का नाम मुख्तार गायन(58) है वह पश्चिम मेदिनीपुर जिले के गढ़बेता थाना के ऊपरजवा गांव का निवासी था। पता चला है कि 12 साल पहले उसने एक महिला के साथ दुष्कर्म किया था जिसके बाद उस पर 2 साल तक मुकदमा चला व फिर दोषी पाए जाने के बाद उसे 10 सालों की सजा सुनाई गई। तब से वह मेदिनीपुर सेंट्रल जेल में अपनी सजा काट रहा था इधर सजा की मियाद पूरी होने के 6 महीने पहले ही उसने फांसी लगा आत्महत्या कर ली जिसके बाद पूरे जेल परिसर में हड़कंप मच गया। जेल के दूसरे कैदियों ने मुख्तार की मौत पर जेल परिसर में ही प्रदर्शन करते हुए कहा कि मुख्तार आत्महत्या करने वालों में से नहीं था। इधर मुख्तार की बीवी का भी कहना है कि जब बीते दिनों मुख्तार पैरोल पर घर आया था वह जेल परिसर के अंदर की बातों को लेकर चिंतित था मुख्तार के भाई ने भी आरोप लगाया कि मुख्तार ने आत्महत्या नहीं कि है बल्कि जेल में उसकी हत्या की गई। जेल के बाकी कैदियों की मुताबिक जेल के अंदर पुलिस द्वारा की गई दुर्व्यवहार के कारण मुख्तार ने आत्महत्या की होगी। इधर जेल प्रशासन का कहना है कि बीते कुछ महीनों से मुख्तार मानसिक तौर पर पीड़ित था जिस वजह से उसका जेल अस्पताल में इलाज भी चल रहा था। मानसिक अवसाद से ग्रस्त होकर ही उसने आत्महत्या की है। अब सारे पहलुओं को जोड़कर मुख्तार के मौत के पीछे की वजह ढूंढी जा रही है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post