राज्य सरकार केंद्र से Covishield की 1 लाख डोज की मांग, चांदमारी अस्पताल में मॉक ड्रिल कर कोविड-19 से निबटने की तैयारी का लिया गया जायजा

260
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

कोरोना संक्रमण की बढती भयावहता के तहत केंद्र सरकार सभी राज्य व जिलों के स्तर पर सतर्कता की आपतकालीन एडवायजरी जारी की है इसीलिए प्रिकॉस्नरी डोज (Booster Dose) पर जोर दी जा रही है . राज्य से मिली जानकारी अनुसार राज्य में यह डोज मात्र 26%लोग ही लिए हैं . बाकियों में इसे लेकर एक लापरवाही या नाकारात्मक भाव दिख रही है . साथ ही स्वास्थ्य विभाग का कहना है यदि 85% जनसंख्या यह डोज न ले तो सामाजिक इम्यूनिटी मजबूत नही होगी . इधर राज्य में Covishield का भंडार शून्य है और Covaxine भी प्रायः शेष होने वाली है . इसीलिए राज्य सरकार केंद्र से Covishield की 1 लाख डोज की मांग की है . यह जानकारी जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ शौम्यशंकर षाडंगी ने दी .

मालूम हो पश्चिम मेदिनीपुर जिला स्वास्थ विभाग से मिली जानकारी अनुसार हालांकि जिले में बीते 2 सप्ताह
में सिर्फ 2 कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं दोनो ही रेलनगरी खड़गपुर के हैं उनमें एक मरीज हैं मलिंचा वार्ड-16 की 66 वर्षीय महिला जो पिछले 20 वर्षों से फायलेरिया से पीड़ित है और दूसरी हैं वार्ड-6 भवानीपुर काली मंदिर इलाके की 54 वर्षीय महिला , वह फिलहाल कोलकाता के एक गैरसरकारी नर्सिंगहोम में चिकित्साधीन हैं लेकिन दोनों ही मरीजों में कोई गंभीर लक्षण नही हैं. दोनो ही मरीज जब अपनी-अपनी समस्या के उपचार के लिए गई थी वहां उनका आरटी/पीसीआर परीक्षण किया गया .तब दोनो ही कोरोना संक्रमित पाई गई . मालूम हो वार्ड- 6 की महिला वैक्सिन की दोनो डोज भी ले चुकी है .

दूसरी मरीज के विषय में उनके परिजनों से मालूम हुई है कि उन्होंने कोरोना प्रतिरोधक टीके का मात्र एक ही डोज लिया है . फिलहाल दोनों मरीज अस्पताल में चिकित्साधीन . उनमें कोई गंभीर लक्षण नही है . जिला स्वास्थ्य अधिकारी (CMOH) सौम्यशंकर षाडंगी ने बीते बृहस्पतिवार 29 दिसंबर को कहा- “आतंकित होने की आवश्यकता नही है बीते 4 दिनों में कोरोना संक्रमण के नए केस नहीं मिले हैं सिर्फ रेलनगरी खड़गपुर में ही 2 प्रौढ़ महिलाएं संक्रमित पाई गई हैं. उनका उपचार जारी है विशेष चिंताजनक स्थिति नही है इसके बावजूद स्वासथ्य विभाग द्वारा पूरी सतर्कता व सावधानी बरती जा रही है. जिले की 3 अस्पताल कोरोना पीड़ितों के लिए प्रस्तुत रखी गई है . इधर तैयारी की चुस्ती परखने हेतु मेदिनीपुर मेडिकल कॉलेज एवं खड़गपुर महकमा अस्पताल में त्वरित कार्रवाई- क्षमता जांच के मकसद से मॉक-ड्रिल भी हुई है दोनों जगह जिला स्वास्थ्य अधिकारी के साथ अन्य अधिकारी भी मौजूद थे .इसके साथ ही घाटाल महकमा अस्पताल में भी मॉक-ड्रिल हुई . आवश्यकता हुई तो डेबरा व सालबनी सूपर-स्पेशलिटी अस्पताल को भी कोरोना मरीज के उपचार में व्यवहार किया जाएगा .

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com