320
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

खड़गपुर।खड़गपुर शहर से डेटोल नदारद होना बना विवाद का विषय थोक विक्रेता ने आपूर्ति कम होना कारण बताया
खड़गपुर। खड़गपुर शहर में इन दिनों जहां डेटोल की कमी है वहीं कई दुकानदारों व थोक विक्रेता पर मनमानी का आरोप लगा है। ज्ञात हो कि कोरोना के चलते शहर में अन्य सेनिटाइजर की तरह डेटोल की आपूर्ति में काफी कमी है मेडिकल स्टोर्स सहित ग्रोसरी दुकानों से डेटोल नदारद है जहां डेटोल उपलब्ध भी है वहां मनमानी की खबर आ रही है ऐसा ही वाकया खड़गुपर शहर के खरीदा इलाके में घटी। खरीदा इलाके के रहने वाले शशांक शेखर साहा का आरोप है कि वह खरीदा बाजार के एक दुकान डेटोल लिया तो उससे पचपन रु की जगह 65 रु लिया गया। ग्राहक  पहले पार्षद फिर पुलिस से शिकायत की। पुलिस के आने पर पता चला कि दुकानदार डेटोल के पचपन व चूहे मारने की दवाई के दस रु यानि 65 रु लिए थे। टीएमसी नेता राजू गुप्ता का कहना है कि दुकानदार ने अपनी गलती स्वीकारी जिसके बाद मामला शांत हो गया। इधर मेडिकल दुकानदारों का कहना है कि डिस्ट्रीब्यूटर अपने चूहे मारने की दवा को खपाने के लिए अजीबोगरीब शर्त रख रहे हैं व मेडिकल दुकानों में सप्लाई नहीं कर सिर्फ ग्रोसरी शाप में सप्लाई दे रहे है। थोक विक्रेता संदीप अग्रवाल ने कहा कि कंपनी आपूर्ति कम कर रही है चूहे मारने की दवा बेचने के शर्त के आरोप पर उन्होने कहा कि इस संबंध में कंपनी ही प्रतिक्रिया दे सकते हैं अब देखना है कि कोरोना महामारी के समय में समस्या का निदान कब तक होता है वैसे शहर में हैंडवाश, मास्क व सैनीटाइजर की भी भारी कमी है । 

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com