बिहार के श्रमिकों को मारपीट के मामले में मिली जमानत, एसडीओ कार्यालय में हंगामा के बाद किया था पथावरोध, 12 श्रमिक हुए थे गिरफ्तार

233
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

                 
खड़गपुर। बिहार के 12 श्रमिकों को मारपीट के मामले में आज खड़गपुर महकमा अदालत में पेश किया गया जहां सभी को जमानत में रिहा कर दिया गया। ज्ञात हो कि गुरुवार को एसडीओ कार्यालय में हुए हंगामा के बाद श्रमिकों ने पथावरोध शुरु कर दिया था जिसके बाद पुलिस बल प्रयोग कर आंदोलनकारियों को हटा दिया था व कुल 12 लोगों को गिरफ्तार किया था आज सभी को खड़गपुर महकमा अदालत  में पेश किया गया तो जज ने सभी को जमानत पर रिहा कर दिया गया। खड़गपुर शहर थाना प्रभारी राजा मुखर्जी ने बताया कि  लाकडाउन तोड़ने व मारपीट के आरोप में खड़गपुर शहर थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है 14 मई को  हुए मामला संख्या 185/2020 में लाकडाउन तोड़ने व मारपीट करने संबंधी आईपीसी की धारा 147/451/188/353/323/341/427 व 506 व 3 पीडीपीपी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। जमानत लेने वालो में बिहार के जमुई जिला के ताजपुर गांव का रहने वाला अनुज कुमार(18), शेखपुरा जिले के उक्सी गांव का पंकज शर्मा(18), सौरभ कुमार(18), योगी महतो(25) व मंजित कुमार(18), जमुई जिले के खुटकट गांव का रहने वाला विश्वजीत कुमार(21) व कार्तिक कुमार(19), जमुई जिला के ही सिल्होरी गांव का रहने वाला सतीश कुमार(20), शेखपुरा जिले के बेल्ची गांव का रहने वाला राकेश कुमार(19), जमुई जिले के काकन गांव का रहने वाला जितेंद्र कुमार(18), लखीसराय जिले के रामगढ़चौक गांव का रहने वाला दर्शन राज(18) व छत्तीसगढ़ के बिलासपुर के केंदा गांव का रहने वाला मुखदेव सिंह(25) शामिल है।

जमानत मिलने के बाद कार्तिक कुमार ने बताया कि वे लोग अपने गांव जाने के लिए अनुमति मांगने व खाना की कमी को लेकर गुरुवार को एसडीओ के पास गए थे तभी वहां के कर्मचारियों को लेकर अनबन हो गया उसने कहा कि हमने मारपीट नहीं की बल्कि हमारी पिटाई कर दी गई जिसके बाद सभी उत्तेजित हो सड़क अवरोध कर दिया व पुलिस आकर लाठीचार्ज कर हमें गिरफ्तार कर ले गई। कार्तिक का कहना है कि हमने किसी भी तरह पैसे जुगाड़ कर जमानत ले ली है व अब गांव जाना चाहते हैं उन्होने बताया कि उनलोगों को शनिवार की सुबह खड़गपुर ग्रामीण थाना में बुलाया गया है। कार्तिक ने बताया उनलोगों के पास दो किलो चावल है जिससे वे लोग अपना पेट भर रहे हैं। ज्ञात हो कि बिहार के 26 श्रमिक साबुन शैंपू वगैरह का फेरी करते थे लाकडाउन के कारण यहां फंस गए हैं ये लोग मीरपुर के पास बुलबुलचट्ट इलाके में घर भाड़ा लेकर रह रहे हैं। ये सभी लोग जमुई जिला के सिकंदरा जिला जाना चाहते हैं जहां से सभी अपने अपने घरों के लिए रवाना हो सकेंगे।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com