18 अनिर्णित परिणाम निगेटिव आने से खड़गपुर में राहत, गुरुवार को फिर से 18 अनिर्णित रहे परिणाम, चांदमारी से 110 सैंपल भेजे गए, रेल मुख्य अस्पताल का किया गया सेनिटाइजेशन, मेदिनीपुर सेंट्रल बस स्टैंड बंद, कंटेनमेंट जोन घोषित

9

                         रघुनाथ प्रसाद साहू
खड़गपुर। बीते सप्ताह भर से खड़गपुर शहर व सलुवा से लगातार बढ़ रहे कोरोना रोगियो की संख्या से बढ़ रही चिंता से प्रशासन को थोड़ी राहत मिली जब बुधवार को अनिर्णित रहे सैंपल के परिणाम भी निगेटिव रहे जबकि गुरुवार की रात फिर से 18 निगेटिव परिणाम आए हैं जबकि पूरे पश्चिम मेदिनीपुर जिले से मात्र चार लोग पाजिटिव हुए हैं जबकि बीते कई दिनों से इसकी संख्या 50 के आसपास थी। ज्ञात हो कि इससे पहले इनकंक्लूसिव सैंपल में से 20 से 80 फीसदी तक परिणाम पाजिटिव रहे थे  जबकि पहली बार खड़गपुरवासियों के लिए परिणाम निगेटिव रहे। इधर गुरुवार को फिर से लगभग  110 नए सैंपल भेजे गए हैं। ज्ञात हो कि बीते सप्ताह अकेले सलुवा से 99 कोरोना पाजिटिव रहे थे लेकिन जवानों को उसके होमटाउन भेजे जाने से स्थिति में सुधार दिखी है। इधर रेल प्रशासन की ओर से रेल मुख्य अस्पताल में

सेनिटाइजेसन की शुरुआत की गई जबकि अस्पताल के मुख्य गेट बंद कर दिए गए व जरुरी काम के लिए ही आवागमन साइड गेट से हुआ। खड़गपुर रेल मंडल के पीआरओ आदित्य कुमार चौधरी ने बताया कि अस्पताल को व्यापक सेनिटाइज किया जाएगा इसकी शुरुआत हो चुकी है उन्होंने कहा कि पाजिटिव हुए डाक्टर व मेडकल स्टाफ के प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष संपर्क में आए लोगों की शिनाख्तीकरण जारी है व जल्द ही सभी का कोविड टेस्ट कराया जाएगा।इधर घाटाल से भी  एक डॉक्टर के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद से घाटाल के अस्पताल के समीप आसपास के इलाके में लॉकडाउन एक सप्ताह के लिए बढ़ा दिया गया है। इसके अलावा घाटाल के रहने वाले एक व्यक्ति जब अपना इलाज कराने के लिए कोलकाता गए एक रोगी वहां वह भी कोरोना की चपेट में आ गया। जिसके बाद प्रशासन की ओर से लाकडाउन बढ़ाने का फैसला लिया गया।

इधर मेदिनीपुर शहर के सरकारी बस डिपो में एक बस कंडक्टर के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद पूरे बस डिपो इलाके में हड़कंप मच गया। प्रशासन की ओर से तुरंत कार्रवाई करते हुए पूरे बस डिपो को सील कर कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया साथ ही संक्रमित कंडक्टर के साथियों को क्वारेंटाइन में रखा गया है जबकि मेदिनीपुर नगरपालिका की ओर से बस स्टैंड का  सैनिटाइज कराया गया है। जबकि कंडक्टर के साथ रहने वाले 30 साथियों को क्वारेंटाईन में भेज कोविड टेस्ट कराए जा रहे हैं बस स्टैंड के बंद कर कंटेनमेंट करने से बस के डेली पैसेंजरो को असुविधाओं का सामना करना पड़ रहा है।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com