जिलाशासक रेशमी कमल ने किया सबंग का दौरा, अविलंब पुल व चटाई हब को पूरा करने की मांग, सबंग कालेज में ओलचिकी भाषा में आनर्स विषय की होगी पढ़ाई, 40 विद्यार्थी कर सकेंगे पढ़ाई

338
Advertisement
Advertisement
Advertisement

खड़गपुर। पश्चिम मेदिनीपुर जिले के जिलाशासक रेशमी कमल आज खड़गपुर महकमा के सबंग के लांगलकाटा इलाके का दौरा किया जहां सासंद मानस भुईंया ने लांगलकाटा पुल को अविलंब बनाने की मांग की ज्ञात हो कि उक्त जगह पर बांस कच्चे पुल थे जो कि ढ़ह गए। लांगलकाटा सहित चार पुल बनने थे इसके लिए राज्य सरकार की ओर से 650 करोड़ रु का फंड भी आबंटन हो गया था सांसद ने अविलंब लांगलकाटा का पुल  बनाने की अपील की ताकि कपालेश्वरी व केलेघाई नदी के संगमस्थल में बने पुल से पूर्व व पश्चिम मेदिनीपुर जिले को आपस में जोड़ा जा सके। इसके अलावा जिलाशासक ने आज बीडीओ कार्यालय में बैठक की। जिसमें सबंग रुईनन में ठप पड़े चटाई के हब को पूरा करने की मांग की गई। ज्ञात हो कि उक्त हब के काम पूरा होने पर आसपास के थाना इलाके यहां तक कि खड़गपुर ग्रामीण थाना इलाके में बनाने वाले चटाई कारीगरों को फायदा होगा। ज्ञात हो कि राज्य सरकार ने 26 लाख 45 हजार रु का फंड आदिवासियों के सांस्कृतिक उत्थान की योजना में खर्च के लिए आबंटित किया गया है जिससे सांस्कृतिक केंद्र बनेगा। व सबंग में आदिवासियों को ओलचिकी में आनर्स की पढ़ाई के लिए 40 सीटें उपलब्ध कराई गई है जिसमें नए सत्र से पढ़ाई होगी। इसके अलावा बीडीओ कार्यालय के बाउंड्री वाल भी बनाए जाएंगे। मानस भुईंया ने जिलाशासक से शिकायत की कि नदी की साफ सफाई बीते आठ सालों से नहीं होने से बाढ़ का खतरा उत्पन्न हो गया। उन्होने इलाके में अवैध तरीके से ईंट भट्टा चलने की मुद्दा भी उठाया। जिलाशासक बीडीओ कार्यालय में प्रशासकीय बैठक भी की। इस अवसर पर एसपी दीनेश कुमार, एएसपी काजी शमसुद्दीन अहमद, एसडीओ वैभव चौधरी, विधायक गीता रानी भुईंया, उत्तरा सिंह हाजरा, अजित माईति, बिकास भुईँया व अन्य उपस्थित थे।     

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com