रेल अधिकारी के खिलाफ महिला ने की छेड़खानी की शिकायत, एसएसई के समर्थन में डीपीआरएमएस ने किया धरना प्रदर्शन, गोलबाजार में दुकान तोड़ने के मामले को लेकर आरोप प्रत्यारोप जारी

1057
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

रघुनाथ प्रसाद साहू 

खड़गपुर। रेल अधिकारी गोलबाजार के बाजार कार्यालय के एसएसई एस के राणा के खिलाफ आजाद बस्ती की रहने वाली महिला  ने छेड़खानी की शिकायत खड़गपुर शहर थाना के महिला थाना में शिकायत दर्ज कराई है। खडगपुर शहर थाना प्रभारी राजा मुखर्जी ने बताया कि महिला थाना में मोलेस्टेसन का मामला दर्ज कराया गया है मामले की जांच की जा रही है।

ज्ञात हो कि गुरुवार को दुकान तोड़े जाने को लेकर रेल प्रशासन व टीएमसी नेता कार्यकर्ताओं के बीच विवाद उत्पन्न हुआ था। पूर्व विधायक प्रदीप सरकार ने दुकान तोड़े जाने का विरोध करते हुए डीआरएम मनोरंजन प्रधान सहित रेल प्रशासन को आड़े हाथों लिया था व मामले में भाजपा नेताओं का हाथ बताया था।

इधर रेल के काम में बाधा डालने सहित अन्य मामलों में टीएमसी के नेताओं के खिलाफ शिकायत दर्ज रेल प्रशासन की ओर से कराए जाने की बात कही गई है। डीपीआरएमएस का कहना है कि दोषी राजनीतिक दलों के गुंडो को गिरफ्तार ना कर पुलिस उल्टे रेल अधिकारी को  झूठे मामले में फंसा रही है।

 

डीपीआरएमएस ने किया प्रदर्शन

इधर कोरोना गाइनलाइन को मानते हुए, दक्षिण पूर्व रेलवे मजदूर संघ के जोनल अध्यक्ष, प्रहलाद सिंह के नेतृत्व में लगभग 60-70 रेलवे कर्मचारियों ने खड़गपुर डिवीजन के मंडल रेलवे प्रबंधक कार्यालय के समक्ष  धरना प्रदर्शन किया।

मीडिया से बात करते हुए जोनल अध्यक्ष प्रहलाद सिंह  ने कहा कि  3 जून को खड़गपुर डिवीजन के इंजीनियर विभाग के गोलबाजार के बाजार कार्यालय में कार्यरत सीनियर सेक्शन इंजीनियर, एस. के. राणा  पर सत्तारूढ़ पार्टी द्वारा राजनीतिक संरक्षण प्राप्त गुंडों द्वारा हमला किया गया तथा जान से मारने की धमकी दी। इस बाबत एस. के. राणा ने खड़गपुर थाना में शिकायत दर्ज करायी। लेकिन अब तक पुलिस द्वारा कोई गिरफ्तारी नहीं हुई हैं। लेकिन 4 जून को उन्हीं  राजनीतिक संरक्षण प्राप्त गुंडों द्वारा एस. के. राणा के विरूद्ध झूठे बलात्कार के मामले में फंसाने की कोशिश की गई। यह एक बदले की भावना हो जो राजनीति से प्रेरित है।

अनेक रेलवे क्वाटर्र पर गैर रेलवे व्यक्तियों ने जबरदस्ती कब्जा कर रखा है, उनमें से कुछ तो सत्तारूढ़ पार्टी के कांउन्सिलरों ने कब्जा कर रखा है। यहां तक की रेलवे की जमीन को भी सत्तारूढ़ पार्टी के कुछ कांउन्सिलरों द्वारा लाखों रूपये लेकर बेचा जा रहा है। इस पर भी रेलवे प्रशासन को ध्यान देने की जरूरत है।

रेलवे कर्मचारियों की सुरक्षा एवं संरक्षा के मद्देनजर यह धरना प्रदर्शन किया गया। हम खड़गपुर डिवीजन के मंडल रेलवे प्रबंधक एवं पुलिस प्रशासन से रेलवे की अपील करते हैं कि इस मामले में उन गुंडों पर उचित कार्रवाई की जाए।  हम आंदोलन को तब तक जारी रखेगें जब तक उन गुंडों पर उचित कार्रवाई नहीं होगी।

इस अवसर पर  खड़गपुर के डिवीजनल समन्वयक टी.एच. राव, खड़गपुर कारखाना के कारखाना सचिव पी. के. कुंडु, कारखाना सह- सचिव मनीष चंद्र झा, कारखाना सह- सचिव जयंत कुमार, केंद्रीय सदस्य पी. के. पात्रो, ओम प्रकाश यादव, कौशिक सरकार, बलवंत सिंह आदि उपस्थित थे।

साथ ही साथ दक्षिण पूर्व रेलवे मजदूर संघ के अन्य यूनियन पदाधिकारीगण यथा किशन कुमार, एन. एस. राव, मानवेन्द्र बन्दोपाध्याय, मुकुन्द राव, के. कृष्णामूर्ति, पवन श्रीवास्तव, के. सी. मोहंती, ए. के. दुबे, जी एल पी शर्मा, रत्नाकर साहू, एम. रामकृष्णा, पी. श्रीनू, संतोष सिंह, लोकेश्वर राव, अभिषेक, उमाशंकर, जलज कुमार गुप्ता , शेखर, श्यामंत, संजीव कुमार, संजय कच्छप, संदीप सिंह, एम रामकृष्णा, वी. रवि कुमार, शंभू शरण सिंह व अन्य भी उपस्थित थे।

 

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com