नाबालिग के साथ दुष्कर्म व हत्या का प्रयास करने के मामले में आरोपी को मेदिनीपुर जिला अदालत ने कारावास की सजा सुनाई, सात वर्षीय छात्र का शव बरामद

327
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

सात वर्षीय छात्र का  शव बरामद

Advertisement
Advertisement

मेदिनीपुर : नारायणगढ़ थाना इलाके में एक सात वर्षीय बालक का शव बुधवार की शाम उसके घर के ग्वालघर पर घरवालों ने फंदे पर लटकता हुआ देखा।आनन फानन में उसे फंदे पर से उतारकर स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, जहाँ प्राथमिक जांच के बाद चिकित्सको ने उसे मृत घोषित कर दिया।मृतक बालक का नाम रंजीत श्यामल (7) बताया जाता है।पुलिस एवं मृतक के ताऊ अनंत श्यामल से मिली जानकारी के अनुसार नारायणगढ़ थाना इलाके के पचासबेटियां गांव में रहने वाला रंजीत श्यामल स्थानीय विद्यालय का कक्षा पहली का छात्र था।बुधवार के दिन घर के सभी सदस्य दुआरे सरकार की शिविर में गए हुए थे।घर पर रंजीत अपने तीन चचेरे भाई-बहनों के साथ था।बताया जाता है कि दोपहर के समय उसकी नौ वर्षीय चचेरी बहन ने उसे भोजन करने के लिए आवाज दी।रंजीत ने कहा कि वह गाय को चारा देकर आ रहा है, किंतु काफी देर होने पर भी वह नही लौटा।घर के बच्चों ने ग्वालघर में जाकर देखा तो उसका शव फंदे से लटकता पाया।बच्चों की चीख पुकार सुनकर आस पड़ोस के लोग इकट्ठे हुए और शव को फंदे से उतारकर अस्पताल ले गये, जहाँ डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।पुलिस ने कहा कि मौत के सटीक कारण का पता नहीं चल पाया है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद असलियत पता चलेगा।बहरहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. अनुमान है कि गाय के बछड़े से खेलते वक्त रस्सी  बच्चे के गले में अटकी जिससे उसकी मौत हुई.

खड़गपुर। नाबालिग के साथ दुष्कर्म व हत्या का प्रयास करने के मामले में आरोपी को मेदिनीपुर जिला अदालत ने पांच साल बाद सजा सुनाई। घटना पश्चिम मेदिनीपुर जिले के गड़बेत्ता थाना इलाके के कुंज बनकाटी गांव की है। ज्ञात हो कि पांच साल पहले साल 2016 में अशरफ चौधरी नामक शख्स ने बनकाटी गांव के एक तालाब में अन्य बच्चों के साथ नहाने गई 13 वर्षीय नाबालिगा के साथ तालाब में ही नहाने के दौरान दुष्कर्म करने का प्रयास किया वहीं जब नाबालिगा के विरोध करने व चींख पुकार के बाद अशरफ ने उसे तालाब में डूबाकर मारने की भी कोशिश की। लेकिन वहां मौजूद अन्य बच्चों की चींखने चिल्लाने के बाद अशरफ वहां से भाग निकला। बाद में परिजनों को घटना का पता चलने पर उन्होंने नाबालिगा को बरामद कर अस्पताल में भर्ती कराया वहीं अशरफ चौधरी के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराई। बाद में पुलिस ने अशरफ को गिरफ्तार किया व उसके खिलाफ पोस्को एक्ट के तहत मुकदमा चलाया गया। लगभग पांच साल से अधिक केस चलने के बाद मेदिनीपुर जिला अदालत की जज तानिया घोष ने बुधवार 25 अगस्त को मामले में आरोपी अशरफ को सजा सुनाते हुए उसे साढ़े तीन साल का कारावास के साथ उसपर दस हजार रुपए जुर्माना लगाया गया। इस मामले में सरकारी वकील स्वर्णेंदु पोड़ियाल ने कहा कि आखिरकार पांच सालों बाद ही सही लेकिन पीड़िता को इंसाफ मिला।

पेट्रोलिंग कर रही पुलिस जीप को ट्रक ने मारी टक्कर, चार पुलिसकर्मी घायल

मेदिनीपुर : जिला के शालबनी थाना अन्तर्गत भादूतला इलाके में बुधवार देर रात इलाके में गश्त लगा रहे पुलिस जीप  को एक ट्रक ने टक्कर मार दिया।जिसमें जीप का चालक सहित चार पुलिसकर्मी जख्मी हो गये।मालूम हो कि रात के तकरीबन दो बजे पुलिस जीप पेट्रोलिंग कर सड़क के किनारे खड़ी थी।तभी मेदिनीपुर से भादूतला की ओर जा रही एक ट्रक ने पुलिस जीप को टक्कर मार दिया।इस घटना में जीप का चालक सहित चार पुलिस कर्मी जख्मी हो गये।घायलों को मेदिनीपुर मेडिकल कालेज अस्पताल ले जाया गया।जिसमें दो पुलिस कर्मियों की हालत स्थिर बताया जा रहा है।एक पुलिसकर्मी को कोलकाता स्थानांतरित किया गया है।घटना के बाद ट्रक का चालक और खलासी ट्रक को घटना स्थल पर छोड़कर फरार हो गये।क्षतिग्रस्त पुलिस जीप को क्रेन के जरिये थाने में ले जाया गया।पुलिस घटना की जांच करते हुये फरार ट्रक  चालक और खलासी की तलाश कर रही है। एसपी दिनेश कुमार का कहना है कि पुलिस गाड़ी बैक कर रही थी तभी ट्रक ने धक्का दे दिया घायल पुलिसकर्मी खतरे से बाहर है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com