. . . जब शिव खुद शामिल हुए आजादी के अमृत महोत्सव में, बांगला सावन सोमवारी के अंतिम दिन खड़गपुर में देशभक्ति और शिवभक्ति का हुआ अद्भुत समागम

300
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

खड़गपुर, 15 अगस्त के दिन 75 वे स्वतंत्रता दिवस और बांग्ला सावन के अन्तिम सोमवारी के कारण खड़गपुर शहर भक्ति मे सराबोर रहा। सुबह से ही देश प्रेम का जोश और शाम ढ़लते-ढ़लते शिव सेवा का भाव का नजारा देखते ही बन रहा था। इस दौरान शहर के तमाम छोटे बड़े शिवालयो मे कावड़ियो की भारी भीड़ हुई उधर बोल बम का नारा लगाते हुए यात्रियों कि सेवा भी जोर दार तरीके से किया गया।

मुख्य रूप से स्थानीय कंसावती नदी से जल लेकर यात्रा करने वालों यात्रियों के मुख्य रास्ते पर सेवा शिविर लगाये गये। मलंचा रोड में रामनिवास धर्मशाला के पास खड़गपुर बोल बम कावड़ियाँ सेवा संघ के द्वारा सबसे बड़े सेवा शिविर लगाया गया था। संचालक समिति के मुख्य सदस्यों मे से एक श्री सुरेन्द्र प्रसाद और मनोज कुमार साह ने बताया कि यह शिविर खड़गपुर शहर का सबसे विशाल शिविर विगत 10 सालो से यहा सेवा कार्य चल रहा है। इस बार यात्रियों कि सेवा के लिए विशेष प्रबंध किया गया था। जिसमें मुख्य आकर्षण पानी का झरना के साथ खाने के लिए चना मूंग का नाश्ता, केला, अमरुद, बिस्कुट, खिचड़ी, लस्सी, सत्तू  शरबत, संतरे का शरबत, निंबू कि चाय इत्यादि का उत्तम वय्वस्था किया गय था।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com