चप्पल के चक्कर में गई डीजे म्यूजिकल के आयोजक व टीएमसी के बूथ सचिव की जान, धौली एक्सप्रेस की चपेट में आने से हुआ हादसा, कोलकाता से वापस बेलदा लौटते वक्त खड़गपुर रेल स्टेशन में घटी घटना

297
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

रघुनाथ प्रसाद साहू/9434243363

एक कील की वजह से राज्य खो जाता है पढ़ा सुना था पर चप्पल के खो जाने के चक्कर में किसी युवक की जान चली जाए तो इससे ज्यादा दुखद और क्या हो सकता है। मंगलवार को खड़गपुर रेल स्टेशन में ऐसे ही हादसा का शिकार हुआ बेलदा थाना के चराई गांव के 27 वर्षीय युवक तमाल कांति दास. पता चला है कि तमाल जो कि डीजे मयुजिकल के लिए कार्यक्रम का आयोजन करता था अपने साथी दीप्तीमान के साथ कोलकाता कार्यक्रम के सिलसिले में ही गया था। हावड़ा से मंगलवार की सुबह फलकनामा एक्सप्रेस से खड़गपुर आय़ा चूंकि उक्त ट्रेन का बेलदा में ठहराव नहीं है तमाल अपने दोस्त के साथ खड़गपुर स्टेशन में उतर गया फलकनामा मंगलवार की सुबह 10.26 पर खड़गपुर के प्लेटफार्म नंबर तीन पर पहुंची थी व उसी प्लेटफार्म में सुबह 11.10 में हावड़ा से भुवनेश्वर जाने वाली अप धौली एक्सप्रेस भी पहुंची चूंकि धौली का बेलदा में ठहराव है इसलिए ट्रेन में चढ़ने के क्रम में तमाल का चमड़े का चप्प्ल ट्रैक पर नीचे गिर गया। पहले तमाल ने चप्पल पैर से उठाने की कोशिश की पर विफल रहने पर ट्रैक उतर गया जैसे ही तमाल ट्रैक पर उतरा ट्रेन चल पड़ी व तमाल के सिर व हाथ में चोटें आई थी हांलाकि शरीर का कोई अंग कटा नहीं था। साथी दीप्तिमान का कहना है कि घटना के बाद भी तमाल होश में था व बात कर पा रहा था उसे तुरंत खड़गपुर मेन अस्पताल ले जाया गया जहां सवा बारह बजे दोपहर उसने दम तोड़ दिया। चूंकि तमाल के शव को ब्राउट डेड घोषित किया गया खड़गपुर शहर थाना की पुलिस ने तमाल के शव का बुधवार को अंत्यपरीक्षण करा पिता को सौंप दिया जिसके बाद गांव में बुधवार की देर शाम अंतिम संस्कार कर दिया गया।

click the link

https://youtu.be/dubxLXnR7SU

आरपीएफ खड़गपुर पोस्ट थाना प्रभारी सुधीर कुमार ने बताया कि युवक ट्रैक में गिर पड़ा था जिसे ट्रेन के गुजर जाने के बाद तुरंत एंबुलेंस से रेल अस्पताल उपचार के लिए भेज दिया गया।
बंगाल स्टेज परफार्मर गिल्ड से जुड़े राजू ने बताया कि तमाल भले कलाकार नहीं था पर आयोजन से जुड़ा था जिससे अपना रोजगार करता था काम के सिलसिले में कोलकाता गया था जहां से लौटते वक्त दुखद हादसा हुआ। ज्ञात हो कि कोविड के समय से ही कलाकार बेरोजगार है गीत संगीत व नृत्य का आयोजन फिर से शुरु होने से कलाकारों में आशा का संचार हुआ था पर तमाल की मौत से कलाकारों में शोक है।

मिट्टी में जान फूंकने वाले पिता की आंखे बेटे को मिट्टी में विलीन होते देख पथरा गई
तमाल अपने माता पिता का इकलौता बेटा था. पिता के पास कोई खेती नहीं था इसलिए मिट्टी में जान फूंक कर प्रतिमा बनाता था व रोजगार करता था पर वहीं रोजगार के लिए निकले बेटा खुद मिट्टी में विलीन हो गया था बेटे का शव लेने पिता खुद चांदमारी पहुंचा था। बेटे को खोकर मां का रो रोकर बुरा हाल है।

 बूथ सचिव तमाल की मर्मस्पर्शी मौत से आहत टीएमसी
ज्ञात हो कि तमाल सिर्फ डीजे म्यूजिकल के लिए ही कार्यक्रम का आय़ोजन नहीं करता था बल्कि राजनीति में भी उसकी रुचि थी टीएमसी के अंचल सभापति माखन मान्ना ने तमाल के चाराई बूथ सचिव होने का दावा किया। विडंबना है कि सोमवार से मुख्यमंत्री व पूर्व केंद्रीय रेल मंत्री ममता बनर्जी खड़गपुर में ही है व मंगलवार को उक्त हादसा हुआ हादसा की खबर पाकर टीएमसी के नेता कार्यकर्ता सक्रिय हो गए खड़गपुर महकमा अस्पताल के रोगी क्ल्याण समिति के चेयरपर्सन हेमा चौबे ने बताया कि दीदी के खड़गपुर में होने से वे लोग काफी खुश थे पर उसके कार्यकर्ता की दुखद मौत की खबर पाकर वह खुद चांदमारी आकर शव के डिस्पोजल में सहयोग कर रही है। बेलदा के टीएमसी नेताओं ने घटना के बाद खड़गपुर नगरपालिका के चेयरमैन प्रदीप सरकार व खड़गपुर शहर थाना प्रभारी विश्वरंजन बनर्जी के सहयोग पर आभार जताया।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com