नौकरी दिलाने के नाम पर वसूली करने के आरोपी शाहिद को तीन दिनों की पुलिस हिरासत, दो लाख की नगदी व फर्जी कागजात जब्त

253
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

✍रघुनाथ प्रसाद साहू /9434243363

खड़गपुर, रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर वसूली करने के आरोपी शाहिद को तीन दिनों की पुलिस हिरासत, दो लाख की नगदी व फर्जी कागजात जब्त खड़गपुर, रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर वसूली करने के आरोपी ब्रोकर शाहीद मल्लिक को आरपीएफ की टीम ने डिटेन कर जीआरपी को सौंपा तो जीआरपी ने फर्जीवाड़ा के आरोपी को शुक्रवार को खड़गपुर महकमा अदालत में पेश किया जहां उसे तीन दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। जानकारी के अनुसार गुरुवार दोपहर हावड़ा – घाटशिला मेमू पैसेंजर (10033) से खड़गपुर स्टेशन के चार नंबर प्लेटफार्म में उतरने के बाद शाहीद मल्लिक को टिकट निरीक्षकों ने टिकट मांगी तो उसने टिकट नहीं दिया उससे फाईन की मांग की तो उससे भी इंकार कर दिया व खुद को टाटानगर में रिजर्वरेशन काउंटर का कर्मी बताया पर आई कार्ड की मांग की तो खुद को खड़गपुर के पीओआई कार्यालय का कर्मी बताया उसने टिकट के बदले आरआरबी का फर्जी कागजात दिखाया जिसके बाद उसे आरपीएफ खड़गपुर टाउन पोस्ट ले जाया गया जहां थाना प्रभारी ने उससे पूछताछ की व उसका बैग खंगाला तो दो लाख रु नगदी व एक डायरी मिली जिसमें नौकरी केनाम पर प्रत्याशियों से वसूले गए लोगों के डिटेल, बैंक एटीएम व अन्य कागजात मिले पूछताछ में पता चला कि वह रेल, राज्य सरकार व सेना में भर्ती के नाम पर लाखों रु वसूली मामले में जुड़ा था। वह खुद को हावड़ा जिले के क्लयाणफुर बागान का निवासी बताया।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

आरपीएप खड़गपुर टाउन पोस्ट प्रभारी सुधीर कुमार ने बताया कि प्रारंभिक जांच में संदह होने व नगदी व फर्जी कागजात जब्त होने पर आवश्यक कार्रवाई कर शाहिद को जीआरपी को सौंप दिया। जीआरपी खड़गपुर ने आरोपी शाहिद के खिलाफ धारा 419, 420 व 36 के तहत मामला दर्ज कर खड़गपुर महकमा अदालत में पेश करने पर उसे तीन दिनों की पुलिस हिरासत में भेजा गया। जीआरपी खड़गपुर थाना प्रभारी शेष कुमार ने बताया कि शाहिद की ओर से मिले जानकारी को वेरीफाई किया जा रहा है ताकि पूरे रैकेट का पर्दाफाश किया जा सके। शाहिद अगर टीटी से ना उलझ फाईन भर कर चले जाते व सीनाजोरी ना करते तो उसकी चोरी भी नहीं पकड़ी जाती।

On 15.9.2022, KGP STN/AM Checking Staff namely –
1) Smt.Chaitali Poddar/ TTI
2) Sri. Ravi Kumar/Sr.TE
3) Smt. Chandana Singh/ Sr.TE while checking tickets in PF No.4 during the arrival of train no.18033, detected a passenger with an irregular ticket. He refused to pay the Railway dues on demand. He was taken to the Office for further course of action. In the office he revealed his name as Sahid Mollick aged M 23, S/O. Hafizull Mallick, home address- Kalyanpur, Bagan, Dist . – Howrah. W.B. Pin – 711303. He was persistent not to pay the Railway dues and stated that he is a Railway Employee and worked as ECRC in Tatanagar Station later he said he worked in KGP STN but could not show ID Card instead showed a slip with Railway Recruitment Board printed on it. On proper examination it was known that it was a fake document moreover he stated that it was his Medical checking memo. His statements were confusing and false. So he was taken and handed over to OC/ RPF KGP POST where on interrogation and search of his back pack was found Cash Rs. 2 Lakhs, 2 dairies containing money transactions from various candidates in lakhs, Cheque books and ATM cards. It was revealed that he worked for a gang promising fake jobs in Railways, State Govt. and Army on payment of a huge amount. Later he was handed over to GRPS/KGP by RPF KGP POST where here was booked U/S 419, 420, 36 IPC. against the accused passenger for further course of action.

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com