खदान के जलाशय में डूबने से अक्षय की मौत, पांच साल पहले भी आईआईटी प्रोफेसर की हुई थी मौत

217
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

खड़गपुर, खड़गपुर ग्रामीण थाना इलाके के घोलाघेरिया के रहने वाले अक्षय भुईंया नामक 12वीं कक्षा के छात्र की लाश खदान से बरामद की गई। पता चला है कि बुधवार की दोपहर अक्षय पिता के कार को लेकर धोने गया था तभी उक्त घटना घटी। गांववासियों का कहना है कि अक्षय सपन भुईंया का एकलौता बेटा था कल दोपहर में उसने मां को फोन कर खदान जाने की बात कही थी मां ने दोपहर में अंडा चावल बना बेटा अक्षय का इंतजार कर रहा था पर देर तक अक्षय के घर ना लौटने के बाद मां ने फोन किया तो भी अक्षय ने फोन नहीं उठाया बार बार फोन करने के बाद खेत का काम कर रहे पिता सपन को फोन कर बेटे की खबर लेने को कहा तो पिता खदान आने पर देखा कि कार धोया रखा हुआ था व उसके कपड़े व मोबाईल, चप्र्पल भी खदान के बाहर था पर तभी अक्षय के डूबने की आशंका को लेकर स्थानीय लोगों की मदद से खोज की तो अक्षय का शव बरामद किया गया। खबर देने पर खड़गपुर ग्रामीण थाना की पुलिस शव को बरामद कर अंत्यपरीक्षण करा परिजन को सौंप दिया घटना से इलाके में शोक व्याप्त है। पता चला है कि अक्षय के पिता गाड़ी भाड़ा में चलाता था व अक्षय भी गाड़ी चला मदद करता था। इससे पहले भी वह खदान में वाहन धोने का काम कर चुका था। अक्षय बलरामपुर हाई स्कुल का बारहवीं का छात्र था व इसी साल इंटर की परीक्षा देने की तैयारी कर रहा था।
घटना से पांच साल पहले आईआईटी प्रोफेसर की मौत की यादें हुई ताजा
ज्ञात हो कि सेल्फी लेने के चक्कर में आईआईटी प्रोफेसर की भी उसी जगह खदान के जलाशय में अगस्त 2017 में डूबने से मौत हो गई थी जबकि बेटे को स्थानीय लोगों ने बचा लिया था। उस वक्त प्रोफेसर अपने बेटे व बेटी के साथ गए भ्रमण करने गए थे तभी उक्त हादसा हुआ था। आईआईटी खड़गपुर के ओसन इंजीनियरिंग एंड नेवल आर्किटेक्चर विभाग के सहायक प्रोफेसर जयदीप भट्टाचार्य(39) अपने ढ़ाई साल की बेटी शिरीन व आठ साल का बेटा उड़ान भट्टाचार्य को लेकर खड़गपुर ग्रामीण थाना के घोलघेरिया इलाके में मोटरसाईकिल से घूमने गए थे वहीं दोपहर लगभग साढ़े बारह बजे मोरम खदान में बेटे के साथ सेल्फी लेते वक्त अचानक बेटे का पैर फिसल गया जिससे नीचे जलाशय में गिर गया बेटे को बचाने के चक्कर में जयदीप भी जलाशय में गिर पड़ा तभी पास खड़ी बेटी ने चिल्लाया जिससे वहां काम कर रहे खेतिहर मजदूर आवाज सुनकर वहां आए व बेटे बचा लिया था जयदीप के ललाट व नाक पर चोट लगी थी।स्थानीय लोगों का कहना है कि घटनास्थल में जल काफी स्टीप है जिसके कारण उक्त जगह काफी खतरनाक है।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com