एनपीएस के विरोध में डीपीआरएमएस, जरुरत पड़ी तो होगा चक्का जामः बलवंत   

305
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

 डीपीआरएमएस की ओर से खड़गपुर रेल कर्मचारियों की नई पेंशन स्कीम के विरोध में आज एक प्रेस-वार्ता बुलाई गई जिसमें जोनल महासचिव बलवंत सिंह ने बताया कि जबसे यह नई पेंशन स्कीम लागू हुई है हमारा फेडरेशन तब से इसके विरोध में है .

 

Click link for video

https://youtu.be/L0Oy5oh4tWM

हमारी मांग है कि नई पेंशन स्कीम को रद्द कर पुरानी पेंशन स्कीम ही जारी रहे .बलवंत ने एनएफआईआर व एआईआऱएफ को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि  रेल मंत्रालय मे रिकगनाइज़्ड अन्य फेडरेशन  ट्रस्टी बने  कॉन्ट्रेक्ट भी साइन किए लेकिन अभी वे भी विरोध में आए हैं . पुरानी पेंशन की जो व्यवस्था है उसमें कर्मचारियों को आर्थिक योगदान नही पड़ता लेकिन नई पेंशन स्कीम में , 2004 से बहाल हुए कर्मचारियों को पेंशन देने के लिए , उनके बेसिक वेतन एवं डीए का 10% काटा जाता है एवं उसमें सरकार 14% योगदान देती है इस तरह जमा हुई राशि का 60% कर्मचारियों को अवकाश पाने के समय दे दिया जाता है  और 40% शेयर मार्केट में निवेश कर पेंशन स्कीम के तहत हर महिने अदा की जाती है और हमारा जो अनुभव हुआ है . हम जो देखे हैं 14-15 साल की सेवा के बाद कर्मचारियों को प्रति माह जो पेंशन मिल रही है वह पेंशन की असल मकसद से दूर है क्योंकि पेंशन की अवधारणा सामाजिक सुरक्षा के नजरिए से की गई है . इस तरह नई पेंशन स्कीम अपने उद्देश्‍य  में असफल है . हम फेडरेशन के साथ एनपीएस के खिलाफ लगातार संघर्ष रत हैं अगर जरुरुत पड़ी तो रेल का चक्का भी जाम किया जाएगा। इस अवसर पर डीपीआरएमएस के संरक्षक प्रहलाद सिंह , जोनल उपाध्यक्ष मनीष कुमार झा, वर्कशाप सचिव पी के कुंडु व अन्य उपस्थित थे। 

 

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com