खड़गपुर स्टेशन में महिला यात्री की तबियत बिगड़ी, रहस्यमय मौत,  लता बालेश्वर से बहन से मिलने आई थी खड़गपुर, सामाजिक संस्था नीरव ने की खड़गपुर स्टेशन में स्थायी डाक्टर नियुक्ति की मांग  

238
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

खड़गपुर, खड़गपुर स्टेशन में महिला यात्री 55 वर्षीय लता सिंह की सोमवार की सुबह भद्रक लोकल पकड़ते समय तबियत खराब होने से उसे रेलवे मेन अस्पताल ले जाया गया जहां डाक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया जिसके बाद खड़गपुर शहर थाना पुलिस शव को बरामद कर चांदमारी अस्पताल ले जाकर अंत्यपरीक्षण करा परिजनों को शव सौंप दिया। परिजनों का आरोप है कि खड़गपुर स्टेशन में ही अगर लता की स्वास्थय जांच हो जाती तो शायद वह बच जाती।

Cli k link

https://youtu.be/qAfh1r6IZdI

 

ज्ञात हो कि बालेश्वर की रहने वाली लता अपने बहन रीना बेहरा के साथ खड़गपुर के गाटरपाड़ा में रहने वाली बी सुशान नामक अपनी छोटी बहन से मिलने आई थी व याहं से दोनों बहन को बालेश्व जाना था सुबह लगभग छह बजे लता व रीना खड़गपुर स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या तीन में पहुंची जहां भद्रक लोकल लगा हुआ था जैसे ही दोनों बहन ट्रेन में उठी लता की तबियत अचानक बिगड़ गई व उसे सांस में तकलीफ के साथ घबराहट होने लगी। जिसके बाद दोनों ट्रेन से उतर गई तबियत ज्यदा बिगड़ी तो बहन रीना ने डाक्टर की मदद के लिए गुहार लगाई रीना का कहना था कि स्टेशन प्रबंधक, आरपीएफ व अन्य लोग आए पर डाक्टर नहीं आये थोड़ी देर बाद एंबुलेंस जरुर पहुंची जिससे लता को अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। रीना का आरोप है कि अस्पताल ले जाने के क्रम में लगभग आधा घंटा देर हो गई व बहन उनलोगो को छोड़ गई। रेल सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पहले से अगर किसी रोगी के ट्रेन से खड़गपुर पहुंचने की सूचना हो तो डाक्टर अस्पताल से स्टेशन बुला लिया जाता है लेकिन अचानक तबियत बिगड़ने पर अस्पताल से एंबुलेंस बुलाकर रोगी को अस्पताल ले जाने का प्रावधान है। इधर सामाजिक संस्था नीरव के प्रमुख कल्पना जोसेफ ने खड़गपुर स्टेशन में स्थायी डाक्टर की मांग करते हुए कहा कि खड़गपुर इतना बड़ा जंक्शन है व हजारों लोग इलाज के लिए भी सफर करते हैं ऐसे में स्टेशन परिसर में स्थायी डाक्टर व दवाखाना ना होना लापरवाही दर्शाता है। पता चला है कि खड़गपुर स्टेशन में दवाखाना खोलने के लिए निर्णय लिया गया है हांलाकि स्टेशन परिसर में 24 घंटे डाक्टर की उपलब्धता का कोई प्रावधान नहीं है। 

मालगाड़ी के धकके से शख्स की मौत 

मेदिनीपुर रेल स्टेशन के समीप गेटबाजार इलाके में चावल खरीदने आए लालमोहन उकील नामक ग्वालतोड़ थाना के मंगलपाड़ा के रहने वाले शख्स की मालगाड़ी के धक्के से सोमवार की सुबह मौत हो गई जीआरपी शव को बरामद कर मामले की जाचं कर रही है। पता चला है कि युवक मेदिनीपुर में अपने परिजन के घर आय़ा था तभी उक्त घटना घटी। 

 

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com