ट्रेनों का आवागमन शुरू, शवों की शिनाख्त के लिए टोल फ्री नंबर जारी, खड़गपुर महकमा अस्पताल में भी हुआ अंत्यपरीक्षण

248
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

खड़गपुर, शवों की पहचान व परिजनों को सौंपने के लिए टोल फ्री नंबर 18003450061 जारी की गई है।इसके अलावा 8420380999, 9647788377 मेदिनीपुर में आय़ोजित पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए एसपी धृतिमान सरकार ने बताया कि घटनास्थल में अब कोई शव नहीं है जितनी भी अज्ञात शव है उसे भुवनेश्वर में रखा गया है। शवों की पहचान करने के लिए जो लोग आ रहे हैं, वे उक्त नंबर पर काल कर सकते हैं। प्रेस मीट में डीएम खुर्शीद अली कादरी, एएसपी राणा मुखर्जी व अन्य उपस्थित थे।


इधर उड़ीसा सरकार राज्य के खर्चे पर इन शवों को गंत्य़व्य स्थल पर भेजने का निर्णय किया गया है।उड़ीसा के मुख्य सचिव जेना के अनुसार आवश्यक चिकित्सा-कानूनी प्रक्रिया और 48 घंटे के बाद डीएनए नमूने एकत्र करने के बाद शवों का निपटान किया जाएगा। आज खड़गपुर महकमा अस्पताल में दोपहर तक 16 शव अंत्यपरीक्षण के लिए आ चुके थे जिसमें से बिहार, पूर्व मेदिनीपुर वर्द्धमान व कई जिलों के शव थे पोस्टमार्टम के बाद शवों को परिजनों को सौप दिया गया।
मिली जानकारी के अनुसार, 1175 घायलों को सोरो, बालेश्वर, भद्रक और कटक के अस्पतालों में भर्ती कराया गया था, जिनमें से 336 को छुट्टी दे दी गई जबकि एक अन्य को छुट्टी दे दी गई। 382 का अभी इलाज चल रहा है। रविवार को 170 शवों की पहचान की जानी बाकी है।
अभी भी अज्ञात शवों का शिनाख्तीकरण बाकी
लगभग सौ अज्ञात यात्रियों के शवों को एम्स-भुवनेश्वर मुर्दाघर में रखा गया है, ताकि परिवारों के लिए उनका दावा करना आसान हो सके। मृत व्यक्तियों और फंसे हुए यात्रियों के परिवार, मित्रों या रिश्तेदारों की सुविधा के लिए भुवनेश्वर में नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। संपर्क 6370946287, 7978095293
6370585221, 8249217415, 8847822559

इधर  रविवार की देर रात से  अप एवं डाउन लाइन में ट्रेन सेवा शुरू कर दी गई है।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com