नेशनल फेडरेशन आफ इंडियन वूमेन (NFIW) का तीन दिवसीय 27 वां राष्ट्रीय सम्मेलन शुरु, राज्य व केंद्र सरकार के विरोध में निकाली गई रैली

166
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

खड़गपुर। सीपीआई की महिला विंग नेशनल फेडरेशन आफ इंडियन वूमेन (NFIW) का 27 वां राष्ट्रीय सम्मेलन आज शाम काम. विद्यामुंशी मंच (प्रजापति घर) में शुरु हुआ। इससे पहले बड़ा बत्ती से रैली निकाली गई जो कि मलिंचा तक गई जहां ओपेन सभा रेणु चक्रवर्त मंच पर हुई।जिसे संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि एनएफआईडब्लयू  महिलाओं की प्रगति, एकता और समानता के आह्वान के साथ निरंतर साम्राज्यवाद और कट्टरवाद के खिलाफ समझौताहीन संघर्ष में लगा हुआ है।सभा में वक्ताओं ने भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि देश की संस्कृति, कला परंपराओं को खतरे में बताते हुए कहा क देश के विभिन्न हिस्सों के बीच एकता के स्वर को बिगाड़ने के लिए तरह-तरह की साजिशें चल रही हैं।

 

देश की साम्राज्यवाद विरोधी, युद्ध विरोधी नीति आज खतरे में है। बेरोजगारी, गरीबी बढ़ रही है.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
सरकार मेहनतकशों के काम के अधिकार की मांग को खत्म कर रही है।

 

 

वक्ताओं ने आरोप लगाया कि केंद्र और बंगाल की राज्य सरकार की प्राथमकिता में शिक्षा और स्वास्थ्य नहीं हैं। देश की एकता का मुख्य आधार साम्प्रदायिक सद्भाव आज खतरे में है।

 

 देश की राष्ट्रीय संपदा को खुलेआम लूटा जा रहा है, आम संपदा को बड़ी पूंजी को बेचा जा रहा है।  नतीजा यह है कि गरीबी-भुखमरी अब आम लोगों का स्थायी साथी बन गई है।

 

संगठन की राष्ट्रीय महासचिव एनी राजा ने  संगठन पर कहा कि  NFIW अपने जन्म से ही सभी तरह के अन्याय के खिलाफ लड़ रहा है.जहां भी अत्याचार होता है, वहां ये संगठन मुखर होकर विरोध करती है। इस अवसर पर कमलजीत , निशा सिद्धू, अश्विनी गोगोई, अरुणा सिंहा, वसंतम, श्यामाश्री, शिखा देवी व दुर्गा भवानी उपस्थित थे.

 

3 days 27th national conference of National Federation of Indian Women (NFIW) begins, rally  against state and central government

Kharagpur. The 27th National Conference of CPI’s women’s wing National Federation of Indian Women (NFIW) Started in Vidyamunshi Manch (Prajapati Ghar). Earlier, a rally was taken out from Bada Batti which went up to Malincha where an open meeting was held on the Renu Chakravarta stage.

Addressing which the speakers said that NFIW will continue its uncompromising struggle against imperialism and fundamentalism with a call for women’s progress, unity and equality. Speakers in the meeting took the BJP to task and said that the country’s culture, art and traditions were in danger and said that various conspiracies were going on to spoil the tone of unity among different parts of the country.

Speaker said anti-imperialist, anti-war policy is in danger today. Unemployment and poverty are increasing.

The government is eliminating the demand of the working people for their right to work.

The speakers alleged that education and health are not the priorities of the Central and State Governments of Bengal. Communal harmony, the main basis of the country’s unity, is in danger today.

The country’s national wealth is being openly looted, common wealth is being sold to big capital. The result is that poverty and hunger have now become permanent companions of the common people.

National General Secretary of the organization Annie Raja said on the organization that NFIW has been fighting against all kinds of injustice since its birth. Wherever atrocities take place, this organization opposes it vocally. On this occasion, Kamaljeet, Nisha Sidhu, Ashwini Gogoi, Aruna Singha, Vasantham, Shyamashree, Shikha Devi and Durga Bhavani were present.

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com