ग्रामीणों को शिकार से दूर रख पाने से वन विभाग खुश, शिकार उत्सव के दौरान शिकार करने की थी परंपरा

70
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

खड़गपुर, शिकार उत्सव के दौरान ग्रामीण विशेषकर जंगल इलाके के लोग शिकार उत्सव में भाग लेते हैं व बड़े पैमाने पर शिकार होता था पर सुप्रीम कोर्ट की ओर से जंगली जानवरों व पक्षियों पर शिकार में प्रतिबंध लगा देने से वन विभाग इसे लेकर सतर्क है व लोगों को इस संबंधमें जागरुकता अभियान चलाते रहते हैं ताकि शिकार ना हो।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

शनिवार को भी शिकार उत्सव के दौरान बड़े पैमाने पर ग्रामीण शिकार के लिए निकले थे पर खड़गपुर वन विभाग के अधिकारियों ने ग्रामीणों को समझा बुझा कर शिकार करने से दूर ऱखा। इसके लिए ना सिर्फ नाकेबंदी करनी पड़ी ग्रामीणों के साथ बेहतर संपर्क भी स्थापित किए। 

 

Click link for video

https://youtu.be/s1jmcoNGs1w?si=XVvgQOtQsH02HCYd

वन विभाग की ओर से खड़गपुर डिवीजन के अंतर्गत खड़गपुर, बेनापुर, नारायणगढ़ बेल्दा रेलवे स्टेशन, चंदना, धनघोरी, बेलती, लेंगामारा, केशियाड़ी, भसराघाट, शीतलपुरा, नयाग्राम खड़िका में शिकार की रोकथाम के लिए पहल किया गया। 

 

 डीएफओ, खड़गपुर मनीष कुमार यादव ने बताया कि (13 अप्रैल, 2024) को  सीसीएफ पश्चिमी सर्कल के मार्गदर्शन के अनुसार खड़गपुर के कर्मचारियों ने पुलिस के साथ नारायणगढ़ और केशियारी में अनुष्ठानिक शिकार समूह जिसमें लगभग 400  ग्रामीणों को रोका गया। ये लोग पश्चिम मेदिनीपुर के जो धनघोरी और बेल्टी मौजा के जंगलों के आसपास के गांवों से एकत्र हुए थे। ग्रामीणों को पारंपरिक अनुष्ठानों में भाग लेने की अनुमति थी, लेकिन किसी भी जंगली जानवर को मारने से रोक दिया गया।  

 

 वन विभाग के उक्त अभियान में  एडीएफओ खड़गपुर चिन्मय बर्मन,  रेंज अधिकारी, हिजली रेंज, शुभाशीष सिन्हा,  रेंज अधिकारी, कलाईकुंडा रेंज, तापस कुमार आदक,  रेंज अधिकारी, चांदाबिला रेंज शुभेंदु बिस्सा वन विभाग के कर्मचारियों के साथ शामिल हुए। 

 

Today (13th April, 2024) staff of Kharagpur Divn along with police as per guidance of CCF Western Circle intercepted ritual hunting groups (400 persons approx.) in Narayangarh & Keshiary block, Paschim Medinipur who had assembled from nearby villages in Dhanghory & Belti Mouza forests.The villagers were allowed to participate in rituals but were restrained from killing any wild animals, said DFO , kharagpur -Manish Kumar Yadav

In this occasion  ADFO Kharagpur Chinmoy Barman, Range Officer, Hijli Range Subhasis Sinha, Range Officer, Kalaikunda Range Tapas Kumar Adak, Range Officer, Chandabila Range Suvendu Bisas And staff of  Forest Dept joined programme.

1.Location
Kharagpur , benapur,narayangarh belda railway station

2.Chandana ,Dhanghori,Belti ,Lengamara
Keshiary,bhasraghat ,sitalpura, nayagram,khorika under kharagpur Division

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com