आरपीएफ जवान ने रेल पुलिया से पटरी पर छलांग लगा की आत्महत्या की कोशिश, 115 लोग क्वारेंटाइन में, आरपीएफ बैरक, क्वारेंटाइन सेंटर का किया गया सेनिटाइजेशन, सील

683
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

                            रघुनाथ प्रसाद साहू
खड़गपुर। एक ओर जहां जवानों के कोरोना पाजिटिव पाए जाने से रेल प्रशासन व आरपीएफ के अधिकारी निबटने की कोशिश कर रहे हैं वहीं शुक्रवार को एक जवान ने आत्महत्या करने की कोशिश कर खड़गपुर रेल मंडल के अधिकारियों की समस्याएं और बढ़ा दी है। ज्ञात हो कि आरपीएफ के एक जवान ने खड़गपुर शहर के सीएमई गेट के पास लगभग 30 फुट की ऊंचाई से रेल ट्रेक पर कूद कर आत्महत्या करने की कोशिश की जिससे वह बुरी तरह घायल हो गया उसे खड़गपुर रेल अस्पताल में भर्ती कराया गया है पता चला है कि खड़गपुर के डाग स्कवायड में कार्यरत प्रेस कुमार साहू को कुछ दिनों पहले सीने में दर्द व कुछ अन्य शिकायत हुई तो वह डाक्टर के पास इलाज भी कराया पर उसे शक था कि वह कोरोना पीड़ित था

आज दोपहर अपने साथियों के साथ कहीं जा रहा था अचानक सीएमई गेट के पास रेल ओवरब्रिज से रेलवे ट्रैक पर कूद गया जिससे वह बुरी तरह घायल हो गया। जवान को साथियों ने रेस्क्यू कर रेल मुख्य अस्पताल ले गये जहां उसका इलाज चल रहा है पता चला है कि जवान उड़ीसा का रहने वाला है। आरपीएफ खड़गपुर के डीएससी विवेकानंद नारायण ने बताया कि जवान को कोरोना फोबिया हो गया था जिससे वह डिप्रेसन में चला गया था दुखद घटना घटी है।रेल पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार तबियत खराब होने की शिकायत करने पर उसे रेल मुख्य अस्पताल भेजा गया था जहां से वह भाग गया बाद में कटिंग खोली के पास से रेलवे ट्रैक्स से बरामद किया गया वह पन्द्रह दिनों की एलएपी छुट्टी में था। ज्ञात हो कि खड़गपुर रेल मंडल के कुल नौ जवान कोरोना पाजिटिव हो गए हैं जिसमें से अकेले खड़गपुर शहर से ही छह है जबकि एक बालासोर, एक उलबेड़िया व एक सांतरागाछी के है। घटना के बाद खड़गपुर शहर के टीबी अस्पताल जो कि क्वारेंटाईन सेंटर है उसके चारों ओर के इलाके को सील कर दिया गया है इसके अलावा ट्राफिक स्थित मेस को भी सील कर दिया गया है क्योंकि जवान मेस में भोजन किए थे जवानों के संपर्क में आए अऩ्य लोगों की खोज कर क्वारेंटाईन किए जाने की सिलसिला जारी है जिसके कारण क्वॉरेंटाइन किए गए लोगों की संख्या 54 से बढ़कर 115  हो गई है।

ज्ञात हो कि इससे पहले बीते 21 तारीख को भी क्वॉरेंटाइन किए गए जवानों की संख्या में बढ़ोतरी की गई थी व आज फिर से कई और संदिग्ध जवानों को क्वॉरेंटाइन किया गया। रेलवे के मुताबिक बीते 14 तारीख को ही दिल्ली से लौटे जवानों को क्वॉरेंटाइन में रख दिया गया था ऐसे में प्रश्न यह उठ रहा है कि फिर यह संख्या बढ़ क्यों रही है।

रेलवे का कहना है कि दिल्ली से लौटे जवानों के संपर्क में आए हुए अन्य जवानों की पहचान कर उन्हें क्वॉरेंटाइन किया जा रहा है। ज्ञात हो कि बालेश्वर में पोस्टिंग जवान के पॉजिटिव पाए जाने के बाद से ही  क्वॉरेंटाइन जवानों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। इधर पश्चिम मेदिनीपुर जिले के घाटाल में गुरुवार को एक एंबुलेंस ड्राइवर के कोरोना पाजिटिव पाए जाने के बाद घाटाल के गांव को भी सील कर दिया गया है व ड्राइवर के संपर्क में बीते दिनों आए लोगों की जांच की जा रही है।

   

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com