लाकडाउन तोड़ने के आरोप में खड़गपुर से 32 गिरफ्तार, प्रचेष्टा योजना का फार्म स्वीकार करने पर रोक से गरीब लोग परेशान,पूर्व मेदिनीपुर से लालगढ़ साईकिल चला पहुंची महिला, ग्रामीणों ने किया विरोध

203
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 खड़गपुर शहर में लाकडाउन ना मानने वालों के खिलाफ कार्ऱवाई करते हुए खड़गपुर शहर थाना पुलिस ने बीते दो दिनों में कुल 32 लोग को गिरफ्तार किया है। खड़गपुर शहर थाना प्रभारी राजा मुखर्जी ने बताया कि सोम व मंगलवार को  गिरफ्तार लोगों को जमानत पर रिहा कर दिया गया।

प्रचेष्टा योजना का फार्म स्वीकार करने पर रोक से गरीब लोग परेशान 
प्रचेष्टा योजना का फार्म जमा देने के लिए बीडीओ व एसडीओ कार्यालयों में सोमवार को उमड़ी भी को देखते हुए बंगाल सरकार की ओर से नोटिस जारी यह स्पष्ट कर दिया गया कि लाकडाउन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के पालन करने हेतु पुरे राज्य में किसी भी एसडीओ या बीडीओ आफिस में प्रचेस्टा योजना का आवेदन फार्म स्वीकार नहीं किया जाएगा। सरकार के अगले आदेश तक लोगों को इंतजार करना होगा इधर मंगलवार को भी कई गरीब लोग प्रचेष्टा फार्म लेने व जमा देने संबंधी पूरी जानकारी के लिए इधर उधर भटकते देखे गए लोगों का कहना है कि अगर जल्द पैसे या राशन नहीं मिले तो स्थिति और भी गंभीर हो सकती है। सीपीआई नेता विप्लव भट्ट ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रचेष्टा को लेकर जो सर्कुलर जारी किया है उससे ज्यादातर गरीब लोग लाभान्वित नहीं हो पाएंगे उन्होने कहा कि राज्य सरकार की गलत नीयत के कारण ही प्रचेष्टा योजना को रोकने की जरुरत आन पड़ी।

पूर्व मेदिनीपुर से लालगढ़ साईकिल चला पटाशपुर से लालगढ़ पहुंची महिला, ग्रामीणों ने किया विरोध
कोरोना के भय को लेकर झाड़ग्राम जिले के लालगढ़ में गांव वालों ने तब विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर किया जब पूर्व मेदिनीपुर जिले के पटाशपुर थाना इलाके के अमर्षी नामक गांव से भारती चक्रवर्ती(59) नामक एक अधेड़ महिला अपने नाती को लेकर साईकिल चलाते हुए डेढ़ सौ किमी दूर लालगढ़ के बापूपाड़ा नामक गांव में अपने भतीजे के घर प्रवेश कर गई। गांव वालों को इस बात का पता चलने पर उन्होनें विरोध प्रदर्शन करना शुरु कर दिया। ज्ञात हो कि स्वास्थ्य विभाग कि ओर से पूर्व मेदिनीपुर जिले को रेड जोन में रखा गया है ऐसे में गांव वालों का प्रदर्शन करना स्वाभाविक था। जब अधिकारियों तक इस बात कि जानकारी पहुंची तो उन्होनें तुरंत महिला उसके नाती व भतिजे को लालगढ़ के स्वास्थ्य केंद्र में जांच करा होम क्वारेंटाइन में भेजा है जबकि शाम मे भारती को वापस पटाशपुर भेज दिया।
स्वस्थ होकर लौटे रोगी
इधर घाटाल महकमा के निजामपुर में गणेश जाना की पत्नी भी आज अस्पताल से स्वस्थ हो कर लौटने से खुश है गाँव वाले हैं ज्ञात हो की गणेश व उसके पिता पहले ही कोरोना से स्वस्थ होकर लौट चुके हैं।  मुंबई से लौटे गणेश पश्चिम मेदनीपुर जिले के प्रथम कोरोना रोगी थे ।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com