प्रेमी के साथ मिल पति की हत्या के आरोप में गिरफ्तार नीमपुरा के रहने वाले प्रेमी व पत्नी को चार दिनों की पुलिस रिमांड, पत्नी व प्रेमी दोनों रेलकर्मी, बेटी के बयान के बाद हुई मां की गिरफ्तारी

13

                          रघुनाथ प्रसाद साहू
खड़गपुर।  प्रेमी के साथ मिल पति की हत्या के आरोप में गिरफ्तार नीमपुरा के रहने वाले प्रेमी व पत्नी को चार दिनों की पुलिस रिमांड में भेजा गया है। पत्नी व प्रेमी दोनों रेलकर्मी है जबकि पति रेल में ठेकेदार श्रमिक। बेटी के बयान के बाद हुई मां की गिरफ्तारी घटना से इलाके के लोग स्तब्ध व उत्तेजित है। आरोप है कि नीमपुरा की रहने वाली एम स्वाति रमणा ने अपने प्रेमी नीमपुरा के ही निवासी व रेलकर्मी के नोकाराजू के साथ मिलकर अपने पति एम ईश्वर राव(44) की मुंह को कपड़े से दबा हत्या कर दी। स्वाति की 17 वर्षीय नाबालिग बेटी श्रुति लेया के शिकायत व मां के खिलाफ बयान देने के बाद पुलिस ने मां व उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर खड़गपुर महकमा अदालत में शनिवार को पेश किया तो दोनों को चार दिनों की पुलिस हिरासत में भेजा गया है। पुलिस का कहना है कि पत्नी व उसके प्रेमी ने अपना अपराध कबूल लिया है पुलिस दोनों से पूछताछ कर मामले की तह में जा सब्सटेंसिअल एविडेंस जुटा रही है ताकि दोषियों को सजा दिला सके। गौरतलब है कि नीमपुरा के वार्ड 13 निवासी एम स्वाति का विवाह 19 साल पहले नीमपुरा के वार्ड 12 निवासी एम ईश्वर राव से हुआ थॆ। पत्नी स्वाति का अपने मायके के पास रहने वाले एन नोकाराजू से संबंध थे नोकाराजू का स्वाति के घर बीते कई दिनों से आना जाना था जो कि पति ईश्वर को पसंद नहीं था जिसे लेकर घर में तीन सप्ताह पहले झगड़ा भी हुआ था।  नोकाराजू भी शादीशुदा व उसके बच्चे हैं।

पता चला है घरेलू अशांति के कारण खड़गपुर वर्कशाप में ठेकेदार श्रमिक के तौर पर काम करने वाले ईश्वर शराब का आदि हो चुका था। 21 तारिख की मध्यरात में ईश्वर के दोनों बच्चे दोनो ओर सोफे में सोए हुए थे जबकि ईश्वर व उसकी पत्नी जमीन में सोई हुई थी। बेटी श्रुति का कहना है कि आधी रात पिता के पास से कुछ हलचल हुई व उसकी नींद खुली तो मां ने डांट कर सुला दिया। थोड़ी देर बाद हरकत बढ़ी तो श्रुति हड़बड़ा कर उठी व लाइट आन कर दी तो देखा नोकाराजू गंजी से उसके पिता का गला दबा रहे हैं जिसके बाद वह रोकना चाही तो मां ने बेटी की जबरन रोक दी इस बीच उसका छोटा भाई भी उठ प्रतिरोध करना चाहा तो उसे भी डांटा गया हल्ला चिल्ला सुन पड़ोसी आना चाहा तो स्वाति ने घर की सिटकिनी लगा दी फिर श्रुति ने सिकड़ी खोली तो पड़ोसी दाखिल हुए इस बीच नोका राजू वहां से मोटरसाईकिल ले फरार हो गए जिसके बाद स्थानीय डाक्टर को बुलाया गया तो  डाक्टर ने प्रमाण पत्र दे दिया जिसके आदार पर दूसरे दिन सुबह ईश्वर का अंतिम संस्कार भी कर दिया।

इस बीच पड़ोसी भी कुछ नहीं बोले घटना के दो दिन बाद शुक्रवार को श्रुति ने अपना पिता के बड़े भाई पूर्व काउंसिलर वेंकटरमणा को बताया को खड़गुपर शहर थाना में शिकायत दर्ज की गई जिसेक बाद पुलिस शुक्रवार की रात दस बजे जब नोकाराजू ड्यूटी कर निकल रहे थे तभी वर्कशाप के सामने से नोकाराजू को व स्वाति को उसके घर से गिरफ्तार किया व शनिवार को अदालत में दोनो को पेश किया गया। खड़गपुर शहर थाना प्रभारी राजा मुखर्जी ने बताया कि दोनों को 29 तारिख को फिर से अदालत में पेश करना है पूछताछ जारी है। ज्ञात हो कि वेंकटरमणा सहित कुल चार भाई व तीन बहने हैं  तीनों बहनों की शादी हो चुकी है। बड़ा व छोटा भाई मुंबई में रहते हैं जबकि वेंकटरमणा बड़ा मंझला व ईश्वर छोटा मंझला भाई है।ईश्वर की बेटी श्रुति हिजली हाई स्कुल में पढ़ती है जबकि दस वर्षीय बेटा भी पढ़ाई करता है जबकि नोकाराजू रेल वर्कशाप में कार्य़रत है व स्वाति साउथ साइड स्थित आईओडब्लयू कार्यालय में ग्रूप डी पद पर कार्य़रत है। लोगों का मानना है कि विवाहेत्तर संबंध ही दो परिवारों की बर्बादी का कारण बना।       

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com