अब सप्ताह में चार दिन होगा सोलापुरी माता मंदिर में घट पूजा, एक दिन में तीन से ज्यादा नहीं होगा घट पूजा, मंदिर परिसर में भीड़ को देखते हुए मंदिर प्रबंध समिति ने लिया फैसला

402

✍ रघुनाथ /मनोज

खड़गपुर। अब सप्ताह में चार दिन श्रद्धालु कर सकते हैं सोलापुरी माता मंदिर में घट पूजा जबकि एक दिन में तीन से ज्यादा घट पूजा की अनुमति नहीं है। कोविड के बीच पूजा के नाम हो रही अनियंत्रित भीड़ को देखते हुए विधानपल्ली सोलापुरी माता मंदिर के प्रबंध समिति की बैठक मंगलवार को हुई जिसमें कुछ नए निर्णय लिए गए ताकि कोविड संक्रमण में रोकथाम बनी रहे। मंदिर कमेटि से जुड़े बी बी भाष्कर राव ने बताया कि कमेटी की ओर से घट पूजा के लिए नियमों में फेरबदल किए गए है नए निर्देशों का पालन करना अनिवार्य किया गया है। घर से आने वाले घट पूजा अब सप्ताह में दो दिन के बजाय चार दिन होगा, पहले रविवार व मंगलवार को घट पूजा होता था अब गुरुवार व शुक्रवार को भी घट पूजा होगा।

उन्होने बताया कि पहले 10-12 घट पूजा होता था जो कि तीन तक सीमित कर दिया गया है। इसके अवाला 30 से अधिक लोग घट के साथ मंदिर परिसर में प्रवेश नहीं कर पाएंगे। ज्ञात हो कि कोविड से भय कम होने के बाद अब शहर के कई जगहों में सार्वजनिक माता पूजा का आयोजन किया जा रहा है पहले माता के मंदर पहुंचने में देर होने के कारण कम लोग आते थे पर अब प्रशासन की ओर से जल्द पूजा उठाने व मंदिर पहुंचने के समय जल्द हो जाने के कारण काफी संख्या में लोग माता के साथ मंदिर में प्रवेश कर रहे हैं जिससे उक्त निर्णय लिया गया है ज्ञात हो कि बांग्ला साइड, धोबी घाट सहित कई जगहो में आने वाले दिनों में सार्वजिन माता पूजा होगा। घर से निकाले जाने वाली घट पूजा में कुछ नियमों में बदलाव किये गए है जिसके अनुसार परिवार के 3 सदस्य मंदिर के गर्भ गृह में पूजा कर सकते है डप्पू बाजा व नर्तकियों की संख्या भी सीमित होगी। होम क्वारेंटाइन की अवधि मे मंदिर प्रवेश निषेध है। घट पूजा की बुकिंग 15 दिन पहले से करवानी होगी। दोपहर का भोजन तथा प्रसाद का कार्यक्रम मंदिर परिसर में ही सम्पन्न होगा। सामाजिक दूरी का पालन करते हुए पूजा अर्चना करना होगा। घट पूजा की बुकिंग 06/10/2020 यानि बीते बुधवार से शुरु कर दी गई है।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com