कोविड निगेटिव होने के बावजूद अवसाद में आए रोगी ने फांसी लगा आत्महत्या की कोविड के भय से खुद को असुरक्षित महसूस कर रहा था अधेड़, पश्चिम मेदिनीपुर जिले में अब तक कोविड से लगभग 250 लोगों की मौत

334

 

Advertisement

✍रघुनाथ प्रसाद साहू
खड़गपुर। कोविड निगेटिव होने के बावजूद अवसाद में आए रोगी ने फांसी लगा आत्महत्या कर ली। कोविड के भय से खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे था 56 वर्षीय अधेड़ निताई माईति। खड़गपुर अनुमंडल के बेलदा थाना के जोड़गेड़िया टीओपी के शिराचक के रहने वाले निताई के छोटे भाई मणिक ने बताया कि निताई को बीते सप्ताह भर से टायफायड था दो तीन दिनो से बुखार व कफ भी था जिसका इलाज कराया जा रहा था व खंडरुई अस्पताल में एंटीजेन कोविड टेस्ट भी कराया गया था जो कि निगेटिव आया था। बावजूद इसके निताई में कोविड को लेकर भय व्याप्त था। निताई खेतिहर मजदूर है व कीर्तन मंडली में भी शामिल हो ता है निताई की पत्नी हाउसवाइफ है व एक बेटा व एक बेटी है। पता चला है कि बेटी का दिल्ली में विवाह हुआ था जहां दामाद की लगभग 6-7 साल पहले सड़क दुर्घटना में मौत हो गई है व घातक वाहन चालक बोलेरो मालिक के साथ क्षतिपूर्ति को लेकर मामला चल रहा है इसी सिलसिले में बेटा मिलन दिल्ली जाने की तैयारी में था जिससे निताई खुद को ज्यदा असुरक्षित महसूस कर रात में घर में फांसी लगा आत्महत्या कर ली। ज्ञात हो कि बेटी बेलदा के समीप दूसरी शादी कर ली है।पुलिस निताई की लाश को बरामद कर मामले की जांच कर रही है।घटना से इलाके में शोक व्याप्त है। इधर पश्चिम मेदिनीपुर जिले में नवंबर 21 तक कुल 17 हजार 350 मामले आए हैं जिसमें से 16 हजार 522 लोग स्वस्थ हो चुके हैं 583 अब भी सक्रिय मामले हैं जबकि 245 लोगों की मौत हो चुकी थी।

 

 

Advertisement

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com