खड़गपुर की बेटी शम्पा की लाश 70 किमी दूर जनकापुर स्थित ससुराल में फांसी में लटकी मिली, ससुराल में ब्यूटी पार्लर चलाती व अकेले रहती थी शम्पा, पति ज्योति चेन्नई में होटल में काम करता है व बेटा ननिहाल खरीदा श्रीकृष्णपुर में रहता है

850

✍ रघुनाथ प्रसाद साहू
खड़गपुर। पति चेन्नई में होटल के प्रोडक्शन विभाग में काम कर रहा था एकमात्र बेटा नानी के घर श्रीकृष्णपुर में रहकर पढ़ाई करता था खुद जनकापुर बाजार में ब्यूटी पार्लर चलाती थी जो कि अच्छा खासा चलता था पैसे की दिकक्त नहीं थी घरवालों से हर रोज फोन में बातें करती थी पर शायद अकेलापन काट रही थी शम्पा को। शम्पा के फोन शनिवार से बज तो रहे थे पर वह उठा नहीं रही थी इसलिए पति चेन्नई से परेशान हो ससुराल में फोन कर शम्पा के फोन ना उठाने की बात बताई तो मायके वालों ने भी शनिवार की शाम से फोन पर संपर्क किया पर वह नहीं उठाई बड़ा भाई कार्तिक का कहना है कि पड़ोसी से भी संपर्क कर शम्पा के बारे में जानना चाहा पर सठीक जवाब नहीं मिलने पर रविवार को मायके के लोग जनकापुर पहुंचे। मामा नंदशील दुलाल ने बताया कि पार्लर भीतर से बंद था व उसके बाद वाले कमरे भी बंद थे दरवाजा तोड़ना चाहा तो स्थानीय लोगों ने दरवाजा तोड़ने से मनाही की आखिरकार दांतन थाना को सूचित करने पर पुलिस घटनास्थल में पहुंची व दरवाजा तोड़ा तो शम्पा फांसी में लटकी पाई गई। मामा का कहना है कि तीसरे कमरे में एस्बेस्टस की छत है वहां से अगर कोई घटना घटित हुई कि नहीं कहना मुश्किल है शम्पा के शरीर काले पड़ गए थे आशंका है कि एक दिन पहले ही उसने आत्महत्या कर ली थी। भाई कार्तिक का कहना है कि मामले को लेकर वे लोग भी संशय में है कि आखिर शम्पा मायके वालों को ढांढ़स देती थी आखिर वह कैसे आत्महत्या कर सकती है जरुरत पड़ी तो पुलिस में शिकायत की जाएगी। पति ज्योति प्रसाद बारिक को खबर देने पर वह फ्लाइट से सोमवार की सुबह दमदम होते हुए खड़गपुर पहुंच गए। पति ज्योति का कहना है कि शुक्रवार की रात पत्नी से सामान्य बात हुई थी उस वक्त वह डिनर कर रही थी उसके बाद ही कुछ हुआ होगा। पुलिस शम्पा बारिक के दो मोबाईल जब्त कर काल डिटेल खंगाल रही है। दांतन थाना प्रभारी सुब्रत विश्वास का कहना है कि शम्पा की लाश ओढ़नी से पंखे में लटकती मिली रहस्यमय मौत का मामला दर्ज कर अंत्यपरीक्षण कर शव को पति को सौंप दिया गया है। अंत्यपरीक्षण रपट का वे लोग इंतजार कर रहे हैं पुलिस का कहना है कि शंपा अपने घर से दो किमी दूर ससुराल कभी कभार जाती थी व अपने घर में अकेले रहती थी। शंपा के सास ससुर व अन्य लोग है पर ज्योति उनलोगों पर ज्यादा बात नहीं करना चाहते। ज्ञात हो कि शंपा का आठ वर्षीय बेटा अनिकेत है जो कि अतुलमुनि स्कुल में कक्षा दूसरी का छात्र है शंपा के पिता शंभू प्रमाणिक का सुभाषपल्ली गेट में सेलून दुकान है। शंपा का बड़ा भाई कार्तिक निजी कंपनी में कार्यरत है जबकि छोटी अविवाहित बहन डोमिनोज में काम करती है। पिता शंभू की इच्छा थी कि बारहवी तक पढ़ाई की शंपा भी खड़गपुर में आ जाए व यहीं पार्लर खोले या अन्य काम करें पर शंपा शायद मायके वालों पर ज्यदा बोझ नहीं देना चाहती थी इसलिए जनकापुर में ही जीवन से अकेले संघर्ष करती रही व अपने हिस्से का दुख खुद सहती रही शंपा खड़गपुर तो नहीं आई हां उसका शव सोमवार की शाम जरुर मायके पहुंची जिसके बाद स्थानीय मंदिर तालाब शमशान घाट में उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया पति ज्यातो ने मुखाग्नी दी घटना से खरीदा श्रीकृष्णपुर इलाक में शोक व्याप्त है।

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com