पुलिस को चकमा दे दो कैदी फरार, हल्दिया में एक पेट्रोकेमिकल फैक्ट्री में आग, विवाहिता की रहस्यमय मौत

176
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

खड़गपुर। कैदियों को अदालत ले जाते वक्त प्रिजन वैन की खिड़की का रड़ मोड़कर दो कैदी पुलिस की आंखों में धूल झोंककर वैन से फरार हो गए। घटना आज दिन की है। पता चला है कि अनिमेष बेरा व विशाल दास नामक दो कैदियों को पुलिस पेशी के लिए मेदिनीपुर सेंट्रल जेल से निकालकर तमलुक जिला अदालत ले जा रही थी तभी रास्ते में पुलिस की गाड़ी जाम में फंसी व पुलिस वाले स्थिति देखने के लिए गाड़ी से नीचे उतरे। इस दौरान मौके का फायदा उठाकर दोनों कैदी वैन की खिड़की पर लगी रड़ को मोड़कर उसमे से फराफ हो गए। अब यहां पुलिस की भूमिका पर सवाल उठाए जा रहे हैं कि किस तरह उनके आंखों के नीचे से दो कैदी ऐसे फरार हो गए। पुलिस ने उन्हें पकड़ने के लिए नाकाबंदी शुरू कर दी है वह आसपास के सभी थानों को अलर्ट कर दिया है।

Advertisement
Advertisement

खड़गपुर। पूर्व मेदिनीपुर जिले के शिल्पनगरी हल्दिया में एक पेट्रोकेमिकल फैक्ट्री में आग लगने से आस-पास के इलाके में भय का माहौल कायम हो गया। खबर मिलने पर तुरंत दमकल की 8 इंजन आग बुझाने के लिए मौके पर पहुंच गई। पता चला है कि आज दोपहर काम के दौरान पहले फैक्ट्री के एक टैंकर में अचानक आग लगी व फिर वहां भारी मात्रा में ज्वलनशील पदार्थ मौजूद होने की वजह से आग ने भयावह रुप ले लिया। स्थिति देखकर वहां मौजूद कर्मचारियों ने तुरंत दमकल को खबर दी। बाद में वहां आकर दमकल की आठ गाड़ियां आग पर काबू पाने की कोशिश में लगी हुई है। घटना की खबर मिलने पर फैक्ट्री के कई बड़े अधिकारी वहां पहुंचे व हालात का जायजा लिया। गनिमत है कि हादसे में अभी तक किसी के हताहत होने की कोई खबर सामने नही आई है लेकिन नुकसान लाखों का बताया जा रहा है। ज्ञात हो कि इससे पहले भी दो साल पहले हल्दिया के एक फैक्ट्री में आगजनी की घटना हुई थी जिसमें दो लोगों की मौत हो गई .

खड़गपुर। पश्चिम मेदिनीपुर जिले के केशियाड़ी में मंजु पांडा भट्टाचार्य(35) नामक गृहवधु का झुलता हुआ शव उसके कमरे से बरामद किया गया। मायके वालों का आरोप है कि ससुराल में उनकी बेटी की हत्या कर उसे फंदे से झुला दिया गया। ज्ञात हो कि चार साल पहले दांतन थाना के श्यामसुंदरपुर की रहने वाली मंजु पांडा की केशियाड़ी के खेजुरकुटी के रहने वाले अपरेश भट्टाचार्य के साथ शादी हुई थी। पता चला है कि यह अपरेश की दूसरी शादी थी। पहली पत्नी के मौत के बाद अपरेश ने दूसरी शादी की थी। मायके वालों का कहना है कि अक्सर उनकी बेटी को दहेज के लिए ससुराल में प्रताड़ित किया जाता था। कल दिन में भी मंजु का अपने पति के साथ झगड़ा हुआ था व फिर शाम को उसका झुलता हुआ शव बरामद किया गया। मंजु के पिता का कहना है कि पहले उसकी हत्या कर फिर उसे फंदे से लटका दिया गया। खबर मिलने पर पुलिस वहां पहुंची व शव को बरामद कर अंत्यपरीक्षण के लिए भेज दिया। पुलिस का कहना है कि अंत्यपरीक्षण की रिपोर्ट आने के बाद यह साफ हो जाएगा कि हत्या है या आत्महत्या।
खड़गपुर। पूर्व मेदिनीपुर जिले के एगरा थाना के हरिचक गांव में तपन खाटुआ(45) नामक लापता भाजपा कर्मी का शव उसके घर से थोड़ी दूर पर तालाब किनारे मिलने से इलाके में हड़कंप मच गया। जानकारी के मुताबिक पिछले कुछ सालों से तपन भाजपा पार्टी में सक्रीय रुप से जुड़ा हुआ था वह बुथ कमेटी के सदस्य के रुप में काम कर रहा था। सोमवार की शाम से अचानक वह लापता हो गया। देर रात तक घर नही आने पर परिजनों ने इलाके में व अपने परिचित के घर पुछताछ की लेकिन तपन का कहीं कुछ पता नही चला। फिर बाद में अगले दिब सुबह उसकी लाश घर के थोड़ी दुर एक तालाब किनारे पाई गई। खबर मिलने पर पुलिस इलाके में पहुंची व शव को बरामद कर अंत्यपरीक्षण के लिए कांथी महकमा अस्पताल भेज दिया। इस मामले में भाजपा का कहना है कि विरोधियों ने उनके कर्मी की हत्या कर शव को तालाब किनारे फेंक कर चले गए। इधर हरिचक गांव के प्रधान का कहना है कि तपन के किसी पार्टी से जुड़े होने की बात गलत है वह पारिवारिक अशांति व लेनदारों से छुटकारा पाने के लिए उसने आत्महत्या की है। पुलिस शुरुआती जांच में अस्वाभाविक मौत का केस दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।
खड़गपुर। कैदियों को अदालत ले जाते वक्त प्रिजन वैन की खिड़की का रड़ मोड़कर दो कैदी पुलिस की आंखों में धुल झोंककर वैन से फरार हो गए। घटना आज दिन की है। पता चला है कि अनिमेष बेरा व विशाल दास नामक दो कैदियों को पुलिस पेशी के लिए मेदिनीपुर सेंट्रल जेल से निकालकर तमलुक जिला अदालत ले जा रही थी तभी रास्ते में पुलिस की गाड़ी जाम में फंसी व पुलिस वाले स्थिति देखने के लिए गाड़ी से नीचे उतरे। इस दौरान मौके का फायदा उठाकर दोनों कैदी वैन की खिड़की पर लगी रड़ को मोड़कर उसमे से फराफ हो गए। अब यहां पुलिस की भूमिका पर सवाल उठाए जा रहे हैं कि किस तरह उनके आंखों के नीचे से दो कैदी ऐसे फरार हो गए। पुलिस ने उन्हें पकड़ने के लिए नाकाबंदी शुरू कर दी है वह आसपास के सभी थानों को अलर्ट कर दिया है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com