फेसबुक पोस्ट कर महिला डॉक्टर ने की आत्महत्या, सरकार की तबादला नीति से थी नाखुश

191
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

खड़गपुर। राज्य सरकार की तबादला नियमों से असंतुष्ट मेदिनीपुर मेडिकल कालेज व अस्पताल में पिछले आठ साल से काम कर रही अबंतिका भट्टाचार्य नामक डाक्टर ने अपने सोशल मिडिया प्लेटफॉर्म पर अपने तबादले से नाखुश होने की पोस्ट लिखकर आत्महत्या कर ली। पता चला है कि अबंतिका कोलकाता के बेहला की रहने वाली थी व डाक्टरी की पढ़ाई करने के बाद वह पिछले आठ सालों से मेदिनीपुर मेडिकल कालेज व अस्पताल में कम्युनिटी मेडिसिन विभाग में एसिस्टेंट डाक्टर के पद पर काम कर रही थी। वहीं पिछले दिनों उनका बिना प्रमोशन के तबादला कर उन्हें डायमंड हार्बर मेडिकल कालेज में भेजा जा रहा था जिससे वह असंतुष्ट थी। अबंतिका ने अपने फेसबुक प्रोफाइल पर अपना दर्द बयां करते हुए लिखा। 8 साल तक नौकरी करने के बाद भी बिना प्रमोशन के दोबारा घर से दुर पोस्टिंग दी गई। अब क्या नौकरी से इस्तीफा देने से ही शांति मिलेगी क्या? दरअसल पुराने बदली निति के अनुसार पांच साल अपने शहर से दूर काम करने के बाद डाक्टरों को उनकी सुविधा के मुताबिक नजदीकी अस्पताल में ट्रांसफर दिाया जाता था। लेकिन अबंतिका का ट्रांसफर फिर से उसके घर से दूर कर दिया गया। इधर उसे उम्मीद थी कि आठ साल मेदिनीपुर मेडिकल कालेज में काम करने के बाद उसे घर के नजदीक अस्पताल में ट्रांसफर दिया जाएगा जिससे वह अपनी 8 वर्ष की बीमार बेटी व अपने परिवार के साथ रह पाएगी। लेकिन ऐसा न होता देख वह मानसिक अवसाद से ग्रस्त हो गई और उसने बेहला में अपने घर में अल्कोहल छिड़ककर आग लगा ली। बुरी तरह जख्मी अवस्था में उसे कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां दो सप्ताह तक मौत से लड़ने के बाद आखिरकार उसने दम तोड़ दिया।

खड़गपुर। मेदिनीपुर शहर के धर्मा इलाके से सटे राष्ट्रीय राजमार्ग के आसपास बीते 50 सालों से जमा किए जा रहे कचरे को हटाने का काम आखिरकार शुरु हो गया है जिससे इलाके के वासियों ने राहत की सांस ली है। एक अनुमान के मुताबिक 50 सालों से मेदिनीपुर शहर का सारा कचरा फेंकने के कारण वहां लगभग डेढ़ लाख मैट्रिक टन कचरे का पहाड़नुमा आकृति बन गया है।

जिसके कारण वहां से गुजरने वाले लोगों को कचरे के तीव्र दुर्गंध का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा धर्मा इलाके के आसपास रह रहे लोगों के लिए भी स्वाभाविक जीवन जीना मुश्किल हो गया था। जिसके कारण कई बार लोगों ने प्रशासन के पास कचरा हटाने की मांग को लेकर शिकायत दर्ज कराई। आखिरकार अंत में प्रशासन की ओर से कचरा हटाने का काम शुरु किया गया। मेदिनीपुर पौरसभा के अधिकारी कौशिक राणा ने बताया कि कोलकाता मेट्रोपोलिटन डेवलपमेंट एथारिटी की ओर से एक संस्था को कचरा हटाने का काम दिया गया है। योजना के मुताबिक आगामी 7 महीनों में वहां से सारा कचरा हटा लिया जाएगा व साफ होने के बाद वहां एक पार्क बनाया जाएगा।

खड़गपुर। एक किशोरी का अश्लील फोटो वायरल करने के आरोप में घाटाल महकमा अदालत ने एक युवक को 14 दिनों के जेल हिरासत  में भेज दिया। घटना पश्चिम मेदिनीपुर जिले के चंद्रकोणा की है। पता चला है कि चंद्रकोणा के पाथरा गांव का रहने वाला एक युवक ने किशोरी की अश्लील फोटो को सोशल मिडिया पर वायरल कर दिया। किशोरी के परिजनों को इसका पता चलने पर उन्होंने थाने में शिकायत दर्ज कराई। शिकायत के आधार पर जांच कर पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर उसे घाटाल महकमा अदालत में पेश किया। जहां से जज ने उसे 14 दिनों की पुलिस कस्टडी में भेज दिया।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com