डॉन बास्को खड़गपुर में ग्यारहवीं की पढ़ाई नए सत्र से होगी शुरु , एडुडाइम में बाहरी बच्चों को भी कोचिंग का अवसर स्कुल के स्वीमिंग, क्रिकेट व अन्य खेलों का प्रशिक्षण ले सकते हैं आसपास के बच्चे माइक्रोसाफ्ट के डेटा विज्ञानी डा. विकास बंसल डान बास्को के बच्चों के जिज्ञासा को दूर करने के लिए होंगे उपलब्ध

370
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

✍रघुनाथ प्रसाद साहू  / 9434243363

खड़गपुर। डॉन बास्को खड़गपुर में ग्यारहवीं की पढ़ाई नए सत्र 22-23 शुरु होगी यह कहना है डॉन बास्को खड़गपुर के चेयरमैन अशोक अग्रवाल का। अशोक अग्रवाल स्कुल परिसर में केजीपी न्यूज से बात करते हुए उक्त बातें कही।चेयरमैन अग्रवाल ने कहा कि कला, विज्ञान व वाणिज्य तीनों संकाय में भर्ती ली जाएगी। उन्होने कहा कि बच्चों में विज्ञान के प्रति रुचि बढ़ाने के लिए एडुडाइम नामक संस्था से स्कुल टाई अप किया है जो कि इंजीनियरिंग व मेडिकल की कोचिंग देने वाले दूसरी संस्थाओं से कम कीमत में बेहतर कोचिंग उपलब्ध कराएगी। अग्रवाल ने कहा कि स्कुल के बाहरी बच्चे भी स्कुल कैंपस में आकर कोचिंग ले संकेंगे व सिर्फ कोचिंग ही नहीं स्कुल कैंपस में उपलब्ध स्वीमिंग पूल व क्रिकेट सहित अन्य खेलों का भी प्रशिक्षण ले सकते हैं आसपास के बच्चे। ऐसा कर संस्थान अपने सामाजिक दायित्वों को भी पूरा कर पाएगी। अग्रवाल ने संस्मरण सुनाते हुए कहा कि डेबरा में एक काली पूजा के आयोजन समारोह में बतौर अतिथि पहुंचे थे जहां लोगों ने खड़गपुर व आसपास के बच्चों का शिक्षा के लिए अन्य राज्यों में पलायन का जिक्र किया तभी उन्होने विश्व स्तरीय शैक्षणिक संस्थान स्थापित करने का मन बना लिया व इस तरह डॉन बास्को की स्थापना हुई। अग्रवाल ने बताया कि माइक्रोसाफ्ट के डेटा विज्ञानी डा. विकास बंसल डान बास्को के बच्चों के जिज्ञासा को दूर करने के लिए  उपलब्ध होगे इसके लिए उन्होने सहमति दी है। बच्चे अपनी शंकाए डा. बंसल को मेल कर दूर कर सकेंगे।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

स्कूल परिसर में ही इंजीनियरिंग व मेडिकल की कोचिंग कराएगी एडुडाइम

एडुडाइम के नेशनल हेड (मार्केटिंग) राजीव सिंह ने कहा कि बच्चों विज्ञान के प्रति रुचि बढ़ाने के लिए कक्षा चौथी से दसवीं तक वे लोग फाउंडेशन कोर्स कराते हैं इसके अलावा बच्चों के डाउट्स क्लियर करते हैं। उन्होन कहा कि जेईई व नीट के लिए भी कोचिंग शुरु होगी जिसमें प्रत्येक टर्म में बच्चों को पहले छह सप्तांत में शनिवार व रविवार को आनलाइन कोचिंग दी जाएगी सातवें सप्ताहंत में आफ लाइन क्लास होगी जिसमें आईआईटी से जुड़े विशेषज्ञ भी क्लास लेंगे व आठवें सप्ताह यानि टर्म के अंतिम सप्ताह में परीक्षा होगा।

माइक्रोसाफ्ट के डेटा विज्ञानी डा. विकास बंसल ने डान बास्को के बच्चों के विज्ञान संबंधी जिज्ञासा को किया दूर

यूएस नेशनल लैब के विज्ञानी डा. बंसल स्कुल परिसर में आज विद्यार्थियों के लिए एनरिचमेंट सेमिनार को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित किया व बच्चों के विज्ञान संबंधी जिज्ञासाओं को दूर किया बंसल से ना सिर्फ स्कुली छात्र बल्कि स्कुल के शिक्षकगण ने भी प्रश्न पूछ अपनी जिज्ञासाओं को दूर किया। लखनऊ से प्रारंभिक शिक्षा ग्रहण किए आईईटी बांबे के पूर्व छात्र रहे बंसल ने कहा कि परीक्षा को हौव्वा ना समझे उन्होने कहा कि विद्यार्थियों को ज्यादा से ज्यादा प्रश्न पूछने चाहिए तभी वे लोग सफल हो पाएंगे। बंसल ने फिजिक्स, खगोल सहित अन्य विधाओं के पूछे गए प्रश्नों का जवाब दिया। उन्होने अपने अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि छोटे बच्चों के मन में ज्यादा प्रश्न घुमड़ते हैं। प्राचार्य आर के मोजेज ने कहा कि पाठ्य पुस्तक से हम विज्ञान संबंधी सिर्फ दस फीसदी ज्ञान अर्जन करते हैं जबकि हमारे आसपास ही अफने जीवन में विज्ञान संबंधी घटनाएं घटती है हमें उससे सीख लेनी चाहिए उन्होंने कहा कि करिकुलम हमें सिर्फ विज्ञान के अप्लीकेसन के बारे में बताती है। इस अवसर पर लॉरेन मिर्जा ने कहा कि सफल विद्यार्थी वही है जसमें प्रश्न पूछने की जिज्ञासा हो। डान बास्को के सीइओ हर्षिका, व अन्य उपस्थित थे।

Don Bosco School Kharagpur organized an enrichment seminar for parents students and teachers

The guest speaker for the event was an eminent personality from the field of science Dr. Vikas Bansal (USA). An IIT (ian) from Bombay and PhD from University of Pittsburg US. He was a Researcher at CERN

Dr. Vikas shared about his childhood and journey from Lucknow to the current assignment as Data Scientist with Microsoft.

Dr. Bansal motivated and inspired the students of Don Bosco School Kharagpur to understand Science as a realm and not only as a mere subject as part of a certain curriculum.

Students and parents asked questions in the Q and A session regarding science, universe and his research work on Higgs Boson at CERN

After the reopening of the school, this was a welcome event to start the continuous education for the students.

Parents were happy to see such thoughtful initiative by the Don Bosco School Chairman Shri Ashok Agarwal.

The seminar ended with Vote of thanks by the Principal of Don Bosco School Karagpur Mr. RK Moses

ডন বস্কো স্কুল খড়গপুর, অভিভাবক, ছাত্র এবং শিক্ষকদের জন্য একটি সমৃদ্ধকরণ সেমিনারের আয়োজন করেছিল

অনুষ্ঠানের প্রধান অতিথি ছিলেন বিজ্ঞান বিভাগের একজন বিশিষ্ট ব্যক্তিত্ব, (Dr. Vikas Bansal) ড. বিকাশ বনসাল (USA)। তিনি বোম্বে আইআইটি (ian) এবং পিটসবার্গ ইউনিভার্সিটি থেকে পিএইচডি। তিনি CERN-এর একজন গবেষক ছিলেন।

ডক্টর বিকাশ তাঁর শৈশব জীবন এবং লক্ষ্ণৌ থেকে শুরু করে মাইক্রোসফ্টের সাথে একজন ডেটা সায়েন্টিস্ট হিসাবে তাঁর বর্তমান অ্যাসাইনমেন্টের যাত্রার অভিজ্ঞতা সকলের সাথে ভাগ করে নিয়েছেন।

ড. বনসাল, ডন বস্কো স্কুল খড়্গপুরের ছাত্রদের বিজ্ঞানকে শুধুমাত্র একটি নির্দিষ্ট পাঠ্যক্রমের অংশ বা বিষয় হিসেবে নয় বরং বিজ্ঞানকে একটি বিশাল জ্ঞানের ক্ষেত্র হিসেবে ভাবার জন্য অনুপ্রাণিত করেছেন।

শিক্ষার্থী এবং অভিভাবকরা প্রশ্ন ও উত্তর বৈঠকের মাধ্যমে তাঁর কাছ থেকে বিজ্ঞান, মহাবিশ্ব এবং CERN-এ হিগস বোসনের উপর তাঁর গবেষণামূলক কাজ সম্পর্কে জিজ্ঞাসাবাদ করেছেন।

স্কুল পুনরায় খোলার পর, শিক্ষার্থীদের জন্য এটি একটি স্বাগত অনুষ্ঠান ছিল তাদের ধারাবাহিক শিক্ষা শুরু করার জন্য।

ডন বস্কো স্কুলের চেয়ারম্যান শ্রী অশোক আগরওয়ালের (Ashok Agarwal) এমন সাধু উদ্যোগে অভিভাবকরা আপ্লুত।

ডন বস্কো স্কুল খড়গপুরের অধ্যক্ষ শ্রী আর কে মোসেসের (Mr. RK Moses) ধন্যবাদ জ্ঞাপনের মাধ্যমে সেমিনারটি শেষ হয়।

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com