कोरोना काल में खरीदे गए पिकअप वैन की किश्त ना चुका पाने की टेंशन में फांसी लगा दी जान, गर्भवती पत्नी पर आठ माह की बच्ची के भरण पोषण का भी बोझ

286
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

खड़गपुर. कोरोना काल में खरीदे गए पिकअप वैन की किश्त ना चुका पाने की टेंशन में खड़गपुर अनुमंडल के अमरदा गांव के रहने वाले गौरांग दे (27) ने फांसी लगा आत्महत्या कर ली। परिजनों का कहना है कि घर के बाहर आंगन में पेड़ में शनिवार की सुबह गौरांग  दे की लाश रस्सी से लटकती मिली। उसने 16 माह पहले किश्त में पिकअप वैन लिया था पर कोरोना में ठीक से काम नहीं होने व अभी तक आमदानी ठीक से ना होने के कारण पेशे से ड्राइवर गौरांग पर समय से बोझ चुकाने का दबाव था पता चला है कि बीते कुछ किश्तें नहीं दे पाया था व उस पर गाड़ी के कंपनी के टान लेने का दबाव था। ज्ञात हो कि गौरांग की गर्भवती पत्नी पर आठ माह की बच्ची के भरण पोषण का भी बोझ है। पता चला है कि पत्नी ने पति पर विवाहेत्तर सम्बन्ध रखने व हत्या की आशंका जाहिर की है । घटना से इलाके में शोक व्याप्त है पुलिस शव को बरादम कर अंत्यपरीक्षण करा मामले की जांच शुरु की है।


रेलपटरी से व्यक्ति की लाश बरामद
खड़गपुर ग्रामीण थाना के गाईघाटा के रहने वाले अपू चक्रवर्ती की लाश रेल पुलिस रेलवे ट्रैक से बरामद किया है। पता चला है कि अपू बीते कुछ दिनों से मानसिक अवसाद से ग्रस्त था

परिजन का कहना है कि अपू घर से जब निकला तो उसके पास एक एंड्रायड फोन भी था हांलाकि रेल पुलिस मोबाईल बरामद नहीं कर पाया है।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com