प्रसाद हत्याकांड में आठ लोग हिरासत में, प्रसाद का हुआ पोस्टमार्टम बुधवार को होगा अंतिम संस्कार, एसपी ने लिया हालात का जायजा

386
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

खड़गपुर, टीएमसी समर्थक वेंकट राव उर्फ प्रसाद हत्याकांड में पुलिस कुल आठ लोगों को हिरासत में ले पूछताछ कर रही है पता चला है कि शहर के ओल्ड सेटलमेंट, पुरी गेट सहित अन्य इलाकों के लोगों को हिरासत में लिया गया है जिसमें घटना के चश्मदीद भी शामिल है। इधर प्रसाद के शव का मंगलवार को खड़गपुर महकमा अस्पताल में अंत्यपरीक्षण कराया गया जो कि देर शाम तक चला बुधवार को प्रसाद का अंतिम संस्कार करेंगे परिजन व शुभचिंतक। इधर घटना के बाद स्थिति का जायजा लेने खुद पश्चिम मेदिनीपुर जिले के एसपी दीनेश कुमार खड़गपुर शहर थाना पहुंचे व घटनाक्रम की जानकारी ली।

एसपी ने बताया कि कुल आठ लोगों को हिरासत में पूछताछ के लिए लिया गया है व तलाशी जारी है। ज्ञात हो कि सोमावार की रात ओल्ड सेटलमेंट बालाजी मंदिर से संलग्न माता मंदिर के समक्ष टीएमसी समर्थक प्रसाद राव की हत्या स्कुटी में सवार हो आए तीन बदमाशों ने किया था जिसमें से दो ने ताबड़तोड़ गोली चला दी थी प्रसाद के शरीर में कई निशान मिले है। इससे पता चलता है कि बदमाश किसी भी कीमत पर प्रसाद बच ना पाए इसलिए बिना कोई गुंजाईश छोड़े ताबड़तोड़ गोली चला दी थी बदमाश चेहरे को ढंक कर आए थे। सूत्रों के अनुसार बालाजी मंदिर में सीसीटीवी लगे थे पर माता मंदिर जहां गोली चली वहां सीसीटीवी नहीं था पुलिस सीसीटीवी फुटेज संग्रहल कर मामले की जांच में जुटी है। । घटनास्थल में पुलिस पिकेटिंग बैठाई गई है।


ज्ञात हो कि प्रसाद बैंकाक व चेन्नई दौरा कर खड़गपुर पहुंचा था। अंदेशा है कि प्रसाद को लेकर रेकी की जा रही थी इसलिए जैसे ही प्रसाद दौरे से लौटे बदमाशों ने घटना को अंजाम दिया। श्रीनू नायडू के साथी रहे प्रसाद टीएमसी समर्थक रहे हैं। चेयरमैन प्रदीप सरकार ने घटना पर दुख जताते हुए कहा कि प्रसाद टीएमसी समर्थक रहे हैं इसे मान लेने में उसे कोई गुरेज नहीं है उन्होने कहा कि प्रसाद के बच्चे व उसके बहन के बच्चे अनाथ हो गए हैं दुख की इस बेला में वह प्रसाद के परिजन के साध है वह पहले भी प्रसाद का साथ दिया है व आगे भी परिवार को साथ देंगे। प्रदीप में घटना को राजनीतिक हत्या  मानने से इंकार करते हुए कहा कि प्रथम दृष्टया तो यह प्रतीत नहीं होता लेकिन पुलिस की जांच से ही पता चल पाएगा कि हत्या क्यों की गई। इधर घटना के बाद ही एसडीपीओ दीपक सरकार ने घटनास्थल का दौरा कर इलाके को बांश से घेर दिया है व सैंपल संग्रह किया गया हैज्ञात हो कि घटना स्थल से पुलिस ने मैगजीन व कारतूस बरामद किया है। ज्ञात हो कि मानस चौबे की बरसी के अवसर पर सोमावर को टीएमसी नेता देबाशीष चौधरी ने बदमाशों को संरक्षण देने के लिए नेताओं को आड़े हाथों लिया था इसके कुछ घंटे बाद ही बदमाशों ने हत्याकांड को अंजाम दे शहरवासियों को दहशत में डाल दिया है

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com