खड़गपुर डिवीजन की कुल कमाई में अप्रत्याशित बढ़त, 3644.44 करोड़ रुपये की आय चालू वित्त वर्ष में

210
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Kolkata, 8th February, 2023:

        South Eastern Railway has loaded total 167.18 Million Tonnes of originating freight in the first ten months (April-January) of the current financial year (2022-23) registering a growth of 4.03% in comparison to the corresponding period of previous financial year. During this period, the revenue generation from originating freight loading has also increased to Rs 14,949.45 crore as against Rs. 13,384.63 crore in same period of the previous year. Therefore, the earnings from freight loading has enhanced by 11.69% for SER.

          SER has also registered a remarkable growth in Coal loading in the first ten months i.e. April to January of the current financial year (2022-23). During this period, SER has loaded 42.57 Million Tonnes of Coal, which is 24.69% more than the corresponding period of previous fiscal. Cement loading has also registered a growth of 20.78% with a loading of 13.08 Million tonnes during this period.

          The main commodities of Freight loading during this period were Iron Ore, Coal, Pig Iron & Finished Steel, Cement, Petroleum Products etc.

Kharagpur Division has registered remarkable growth in passengers and earnings segments during the current financial year as compared to the same period of last financial year.

From April 2022 to Jan 2023, the division carried 13.56 Crores passengers as compared to 4.82 Crore passengers during the same period of last year, which shows a growth of 281.32%.

In the passenger earning segment , the division has earned Rs 1342.85 Crores as compared to Rs. 804.40 Crore during the last year, registering a growth of 167%.

Advertisement
Advertisement

In the Parcel loading segment, the division has loaded 138780 tonnes as compared to 106720 tonnes of the last year, which shows a growth of 130%.

In parcel Earnings, the division has earned Rs. 8168.65 Lakhs as compared to 5190.40 Lakhs during the last year. A growth of 157%

In freight loading segment, KGP division has loaded 24.43 million tonnes as compared to 20.77 million tonnes during the last year, registering a growth of 117.62 %.

In freight earnings, Rs. 2010.53 Cr is earned till now as compared to Rs. 1650.58 Cr during previous year showing a growth of 121.8%.

In ticket checking earnings, revenue of Rs. 57.51 Crores were earned till now as compared to 11.90 Cr. During the previous year, registering a growth of 480%

In sundry Earnings segment, the division has registered a growth of 321% By generating a revenue of Rs. 144.43 Cr as compared to Rs. 44.93 Cr during the last period.

In other coaching earnings, KGP division has registered a growth of 150.2% By generating a revenue of Rs. 146.62 Cr as compared to Rs 97.62 Cr during the previous period.

The overall earnings of the division stands at a staggering Rs. 3644.44 crores as compared to Rs. 2587.54 Crores. This is a growth of 140.84%.

The division is also working tirelessly to provide better passenger amenities and better travelling experiences to the passengers. Major development works projects are going on in the division, construction of FOBs, ROBs, RUBs, station development works are going on to provide better amenities to rail users.

The credit for the remarkable growth in all revenue generation segments goes to all the staff and officers who are dedicatedly giving their best efforts for the all round development of railways and providing best services to the passengers.

दक्षिण पूर्व रेलवे ने चालू वित्त वर्ष (2022-23) के पहले दस महीनों (अप्रैल-जनवरी) में कुल 167.18 मिलियन टन मूल माल का लदान किया है, जो पिछले वित्तीय वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 4.03% की वृद्धि दर्ज करता है। इस अवधि के दौरान माल ढुलाई शुरू करने से होने वाला राजस्व भी बढ़कर 14,949.45 करोड़ रुपये हो गया। पिछले वर्ष की इसी अवधि में 13,384.63 करोड़। इसलिए, दक्षिण पूर्व रेलवे के लिए माल ढुलाई से आय में 11.69% की वृद्धि हुई है।

 

दक्षिण पूर्व रेलवे ने चालू वित्त वर्ष (2022-23) के पहले दस महीनों यानी अप्रैल से जनवरी के दौरान कोयले की लोडिंग में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की है। इस अवधि के दौरान, दक्षिण पूर्व रेलवे ने 42.57 मिलियन टन कोयले का लदान किया है, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 24.69% अधिक है। इस अवधि के दौरान 13.08 मिलियन टन की लोडिंग के साथ सीमेंट लोडिंग में भी 20.78% की वृद्धि दर्ज की गई है।

इस अवधि के दौरान माल ढुलाई की मुख्य वस्तुएं लौह अयस्क, कोयला, पिग आयरन और तैयार स्टील, सीमेंट, पेट्रोलियम उत्पाद आदि थे।

 

इधर  खड़गपुर मंडल ने पिछले वित्तीय वर्ष की इसी अवधि की तुलना में चालू वित्त वर्ष के दौरान यात्रियों और आय वर्ग में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की है। अप्रैल 2022 से जनवरी 2023 तक, मंडल ने पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 4.82 करोड़ यात्रियों की तुलना में 13.56 करोड़ यात्रियों का वहन किया, जो 281.32% की वृद्धि दर्शाता है। यात्री कमाई वाले खंड में, मंडल ने पिछले वर्ष के दौरान 804.40 करोड़ रुपये की तुलना में 1342.85 करोड़ रुपये कमाए हैं। 167% की वृद्धि दर्ज की गई।

पार्सल लोडिंग सेगमेंट में, डिवीजन ने पिछले वर्ष के 106720 टन की तुलना में 138780 टन लोड किया है, जो 130% की वृद्धि दर्शाता है।

पार्सल आय में विभाग ने पिछले वर्ष के दौरान 5190.40 लाख की तुलना में 8168.65 लाख रुपए की आय के साथ 157% की वृद्धि दर्ज़ की।

माल ढुलाई खंड में, केजीपी डिवीजन ने पिछले वर्ष के दौरान 20.77 मिलियन टन की तुलना में 117.62% की वृद्धि दर्ज करते हुए 24.43 मिलियन टन का लदान किया है।
माल ढुलाई आय में पिछले वर्ष के दौरान 1650.58 करोड़ रुपए की तुलना में अब तक 2010.53 करोड़ रूपए कमाए हैं। 121.8% की वृद्धि।

टिकट चेकिंग आय में रु. 11.90 करोड़ की तुलना में अब तक 57.51 करोड़ की कमाई हुई। पिछले वर्ष के दौरान, 480% की वृद्धि दर्ज की गई।

विविध आय खंड में, डिवीजन ने पिछली अवधि के दौरान 44.93 करोड़ रुपये की तुलना में 144.43 करोड़ का राजस्व उत्पन्न करके 321% की वृद्धि दर्ज की है।

अन्य कोचिंग आय में केजीपी डिवीजन ने 150.2% की वृद्धि दर्ज की है। पिछली अवधि के दौरान 97.62 करोड़ रुपये की तुलना में 146.62 करोड़।

डिवीजन की कुल कमाई में अप्रत्याशित बढ़त हुई है। 2587.54 करोड़ रुपये की तुलना में 3644.44 करोड़ रुपये की आय चालू वित्त वर्ष में हो चुकी है। यह 140.84% ​​की वृद्धि है।

यात्रियों को बेहतर यात्री सुविधाएं और बेहतर यात्रा अनुभव प्रदान करने के लिए भी मंडल अथक प्रयास कर रहा है। मंडल में प्रमुख विकास कार्य चल रहे हैं, रेल उपयोक्ताओं को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए एफओबी, आरओबी, आरयूबी, स्टेशन विकास कार्य चल रहे हैं. सभी राजस्व सृजन क्षेत्रों में उल्लेखनीय वृद्धि का श्रेय सभी कर्मचारियों और अधिकारियों को जाता है जो रेलवे के सर्वांगीण विकास के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहे हैं और यात्रियों को सर्वोत्तम सेवाएं प्रदान कर रहे हैं।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com