देबाशीष ने अपने ऊपर लगे आरोप को निराधार बताते हुए समुचित जांच की मांग की, पुस्तक मेला कमेटि ने भी की निंदा, अजय बाकली ने लगाया था 5 लाख रु मांगने का आरोप

311
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

✍️रघुनाथ प्रसाद साहू /943424 3363

खड़गपुर, टीएमसी नेता देबाशीष चौधरी ने अपने ऊपर खड़गपुर के पुराने व्यवसायी अजय बाकली की ओर से लगाए गए पुस्तक मेला के लिए पांच लाख रु की मांग व जान से मारने की धमकी के आरोप को बेबुनियाद, झूठा और दुर्भावनापूर्ण  करार दिया साथ ही इसे खड़गपुर के विख्यात पुस्तक मेले की मर्यादा को मलिन व कलंकित करने की साजिश बताया और आरोप संबंधी सारे ब्यौरे को कपोलकल्पित बताया।

देबाशीष चौधरी ने हितकारिणी हायर सेकेंड्री स्कुल में आयोजित पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा की ” ऐसे आपराधिक आरोप के वास्तविकता की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए उन्होने इस संबंध में बीते 25 फरवरी को पुलिस से गुजारिश की है जांच रिपोर्ट पब्लिक  डोमेन में आए ताकि सच्चाई सामने आए और लोगों के धारणा में बनी धुआंसा मिटे.” साथ ही देवाशीष ने आरोपकर्ता को ही बदनाम व गलत गतिविधियों के साथ संलिप्त कलंकित व्यक्तित्व बताते हुए उनके विश्वनीयता पर सवाल उठाया उनके आरोप को दुर्भावनापूर्ण बताया . उन्होने कहा 21 वर्ष पहले 2002 में भी ऐसे आरोप लगाए गए थे जब फर्जी रसीद छपा कर उस पर जबरन पचास हजार रु लेने की बात थी जो कि पुलिस जांच में निराधार निकली व वे वे आरोप से पूर्णतः बरी हो गए।

Click link

https://youtu.be/HEQshbpy_Pc

उन्होने कहा कि उनके साथ साजिश की बू आ रही है जो कि राजनीतिक भी हो सकती है यह जांच के बाद ही पता चल पाएगा। उन्होने कहा कि उस पर जो आरोप लगे हैं वह तैमूर अली की उपस्थिति में हुआ बताया गया है पर तैमूर वहां ना होने की बात कर रहे हैं आखिर सच्चाई आगे आना चाहिए। 

 

पुस्तक मेला कमेटि ने किया तीव्र प्रतिवाद 

खड़गपुर बोई मेला कमेटि के अध्यक्ष प्रो तपन कुमार पाल ने कहा कि खड़गपुर पुस्तक मेला जहां देशभर में अपनी पहचान बना रहा है इसे धूमिल करने की साजिश हुई है जो कि चिंताजनक है उन्होने कहा कि सचिव देबाशीष चौधरी के लोगों के साथ क्या वयक्तिगत संबंध हैं. इस पर जाना नहीं चाहते पर पुस्तक मेले का हिसाब जब जो देखना चाहे देख सकते हैं। शतदल बनर्जी ने भी पुस्तक मेला का नाम जुड़ने पर चिंता जाहिर करते हुए प्रतिवाद करने की अपील की। इस अवसर पर पद्माकर पांडे व अऩ्य लोगों ने भी विवाद को गैरजरुरी बताया। 

मुनमुन पर क्या था आरोप  

अजय बाकली ने बीते 23 फरवरी को तृणमूल नेता देवाशीष चौधरी (मुनमुन) पर पुस्तक मेला के लिए 5 लाख रु मांगने व ना देने पर चेयरमैन कार्यालय में पार्षदों के सामने मारपीट करने व जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया .था।

Click link

https://youtu.be/5uqj_eqeSFY

बाकलीका आरप था कि ” देवाशीष चौधरी उन्हें कई पार्षदों के सामने अश्लील भाषा में न सिर्फ गाली-गलौज किया बल्कि हाथापाई की और  जान से मारने की धमकी दी. साथ ही व्यापार न चलने देने की बात कही . बाकली ने इस संबंध में खड़गपुर शहर थाना में देबाशीष चौधरी सहित दो अज्ञात लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी । उन्होने कहा था कि ” मुझे रास्ते  में बिग बाजार के निकट रोककर मेरी गाडी़ में दो लोग रिवॉल्वर दिखाते हुए देवाशीष के नाम किए गए सारे शिकायत वापस लेने की बात कही उन्होने खुद को भयभीत और आतंकित होने की बात कही थी। 

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com