रेलवे बना रही है देश भऱ मे 5 हजार आइसोलेसन कोच, 40 हजार रोगियों का हो सकता है इलाज, खड़गपुर रेल वर्कशाप के जिम्मे 160 कोच

635
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

खड़गपुर। खड़गपुर रेल्वे वर्कशाप में रेल के स्लीपर क्लास के डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड बनाने का काम तेजी से चल रहा है। देशभर में रेल के कुल 5 हजार डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील किया जा रहा है खड़गपुर वर्कशाप के भी दिन रात इलेक्ट्रिक व इंजीनियरिंग विभाग के कुल 200 अधिकारी व कर्मचारी रेल के डिब्बों को आइसोलेशन केबिन बनाने में जुटे हुए हैं। खड़गपुर वर्कशाप के सीडब्लयूएम एस के चौधरी ने बताया कि दपू रेलवे को 329 कोच बनाने है जिसमें से 160 कोच खड़गपुर वर्कशाप बना रही है

वेंटिलेटर व नेबुलाइजर जैसे मशीनों को चलाने के लिए बोगी का विद्युत क्षमता 210 वोल्ट से बढ़ाकर 230 कर दिया जाएगा। इसके अलावा केबिन में ऑक्सीजन सिलेंडर व मॉनिटर ऑपरेटर की भी व्यवस्था रहेगी। ज्ञात हो कि बोगी में एक केबिन डॉक्टर और नर्स के लिए रहेगा। मच्छरों के प्रकोप से बचने के लिए मच्छरदानी भी होगा स्लीपर के आठ बर्थ को मिलाकर एक केबिन बनाया जा रहा है। व मिडिल के बर्थ को निकाल दिया जा रहा है। टायलेट को भी आधुनिक सुविधाओं से लैस किया जा रहा है प्रत्येक कोच में तीन टायलेट व एक बाथरुम होगा। प्रत्येक केबिन में प्लास्टिक का पर्दा लगाया जा रहा है ताकि रोगा का संक्रमण ना फैले उन्होने बताया कि 15 से 20 साल हो चुके कोच का प्रयोग हो रहा है कोरोना की समस्या दूर होगी तो पुनः मोडिफाइड कर दिया जाएगा ताकि यात्री गाड़ी में कोच का प्रयोग किया जा सके। 

उन्होने बताया कि 86 कोच में काम पूरा कर भेज दिया गया है उम्मीद है कि शुक्रवार तक काम पूरा हो जाएगा। उन्होने बताया कि ट्रेन में इसलिए बनाया जा रहा है ताकि ये मूवमेंट भी कर सके व रोगी को दूर दराज ना भटकना पड़े। उन्होने बताया कि एक बोगी में औसतन आठ केबिन होगा।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com