लाकडाउन के कारण जरुरतमंद वकीलों, पुरोहितो को भी दी गई सहायता

587
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

खड़गपुर। गरीब व जरुरतमंद लोगो के अलावा समाज के कुछ अन्य वर्ग जो कि लाक़डाउन की मार झेल रहे हैं उनलोगों को सहायता दी गई। पश्चिम मेदिनीपुर जिला बार एसोसिएशन की ओर से शनिवार को जिले के लगभग 200 वकीलों को लॉकडाउन के दौरान आर्थिक सहायता दी गई। इस अवसर पर एसोसिएशन के सचिव अरूप वर्मा ने बताया कि बीते लगभग डेढ़ महीने से अदालत का सामान्य कामकाज ठप है सिर्फ आपराधिक मामलों के जमानत जैसे काम ही हो रहे हैं जिससे कई वकीलो को आर्थिक संकट से गुजरना पड़ रहा है ऐसे लोगों को एसोशिएसन की ओर से मदद दी गई। मेदिनीपुर जिला अदालत स्थित एसोशिएसन के कार्यक्रम में एसोशिएसन के सह सचिव शुभजित सिंह, कोषाध्यक्ष अभिजीत सामंत, सह सचिव अनिरुद्ध दे, स्पोर्ट्स सचिव अरिजीत वर्मा व अन्य उपस्थित थे। इधर खड़गपुर ओल्ड सेटलमेंट बालाजी मंदिर कमेटि की ओर से खड़गपुर शहर के विभिन्न मंदिरों के 30 गरीब पुरोहितों को मंदिर परिसर में राशन वितरण किया गया।

इस कार्यक्रम में खड़गपुर के एसडीपीओ सुकमल कांति दास व कमेटि के सदस्य उपस्थित थे। कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया।
जबकि पूर्व मेदिनीपुर जिले के नंदीग्राम में उषारानी घोड़ाई(42) नामक महिला की विद्युत स्पर्श से मौत हो गई। पता चला है कि रविंद्रनाथ के बागान से अक्सर सब्जियों कि चोरी होती थी जिसके कारण उसने अपने बागान में विद्युत तार बिछा रखा था ताकी कोई वहां ना जाए महिला को शायद यह बात पता नही थी व जब वह बागान में गई तो वहां विद्युत के स्पर्श में आ गई जिसके कारण उसकी मौत हो गई।

बाद में सुबह रवींद्रनाथ कि नजर पड़ी तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस शव को बरामद कर अंत्यपरीक्षण के लिए भेज दिया व रविंद्रनाथ को हिरासत में ले पूछताछ कर रही है। ज्ञात हो कि महिला का पति गणेश पेशे से दिन मजदूर है ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि लाकडाउन के कारण काम ना मिलने से खाने पीने कि हो रही दिक्कत के कारण महिला चोरी करने गई थी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com