सामाजिक बहिष्कार किए जाने से परेशान है निजी नर्सिंग होम के स्वास्थकर्मी, सामान्य सेवाएं स्थगित करने का निर्णय, ड्रोन की ली जी रही मदद

645
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

खड़गपुर। इलाज किए हुए रोगी के कोरोना पाजिटिव होने के बाद से अछुत बन गए हैं निजी नर्सिंग होम के स्वास्थय कर्मी। एक ओर जहां स्वास्थकर्मियों को उसके काम के लिए प्रशंसा मिल रही है वहीं कई जगह ऐसे है जहां अछूत मान सामाजिक बहिष्कार किया जा रहा है। मेदिनीपुर शहर के एक निजी नर्सिंग होम के अधिकारियों  ने आज पत्रकार वार्ता बता अपनी आपबीती बताते हुए कहा कि आज भी लोगों में कुसंस्कार जकड़ा हुआ है जिसके कारण उसके नर्सिंग होम में काम किए हुए यहां तक कि उसे भी अजीब नजरों से देखा जाने लगा है नर्सिंग होम के कुल 127 लोगों को उसके गांव घरो में घुसने पर आपत्ति जताई जा रही है सामाजिक बहिष्कार किया जा रहा है, अछूत की नजरों से देखा जा रहा है यहां तक कि स्वास्थय कर्मियों के परिजन के साथ भी अछूत सा व्यवहार किया जा रहा है पश्चिम मेदिनीपुर जिले के एसपी दीनेश कुमार ने कहा कि इस तरह की शिकायत दर्ज हुई तो कार्रवाई की जाएगी। ज्ञात हो कि बेलदा थाना के वृद्ध के भुवनेश्वर में कोरोना पाजिटिव होने से पहले मेदिनीपुर के उक्त नर्सिंग होम में चिकित्सा हुई थी जिसके कारण लोग नर्सिंग होम कर्मियों से दूरी बनाए रखना चाहते हैं। हांलाकि 70 वर्षीय उक्त रोगी भुवनेश्वर में स्वास्थय लाभ कर रहे हैं। घटना के बाद कुल 19 लोगों को क्वारेंटाईन में भेजा गया है व जांच की गई है जिसमें सभी कर्मा निगेटिव पाए गए हैं बावजूद इसके कोई सुनने को तैयार नहीं। नर्सिंग होम प्रबंधन का कहना है कि वर्तमान हालत में रोगियों को ध्यान में रखते हुए सिर्फ डायलाइसिस व डायगोनोस्टिक सेंटर ही खुले रहेंगे जबकि नर्सिंग होम की बाकी सेवा स्थगित रहेगी। ज्ञात हो कि शेखपुरा मे तीन कर्मियों को क्वारेंटाईन  में भी भेजे जाने का लोगों ने विरोघ किया था जिसके बाद पुलिस को उन लोगों को अन्यत्र ले जाना पड़ा था।

इधर लाकडाउन की स्थिति पर नजर रखने के लिए पश्चिम मेदिनीपुर जिला पुलिस की ओर से ड्रोन कैमरा का सहारा लिया जा रहा है। ज्ञात हो कि कोरोना संक्रमित केस मिलने के बाद जिले के 2 गांव एक दासपुर का निजामपुर व दूसरा दांतन का साउड़ी गांव को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। जहां लोगों को घरों से निकलने पर भी पाबंदी है वहां पुलिस ड्रोन कैमरा की मदद से गांव के लोगों की गतिविधियों पर पर लगातार नजर रख रही है इधर मेदिनीपुर शहर के भी कई इलाकों में ड्रोन कैमरा की मदद से लोगों पर निगरानी रखी जा रही है व लाकडाउन का पालन ना करने वालों पर पुलिस कार्रवाई कर रही है।

इधर पूर्व मेदिनीपुर जिले के  तमलुक के मतांगिनी हाज़रा ब्लाक में एक ही परिवार के पांच लोगों को क्वारेंटाईन में भेजा गया ज्ञात हो कि 80 वर्षीय पान व्यवसायी उक्त परिवार मे पहले से ही पांच कोरोना पाजिटिव पाए गए थे। पूर्व मेदिनीपुर जिले में कुल 21 कोरोना पाजिटिव में 8 लोग स्वस्थ हो गए हैं जबकि 13 का इलाज चल रहा है जिसमें से 4 का कोलकाता व बाकी 9 का जिले के ही चंडीपुर व पांशकुड़ा में इलाज चल रहा है।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com