खड़गपुर महकमा अस्पताल में कोरोना का एटीजेन टेस्ट शुरू, मेदिनीपुर व घाटाल में भी एंटीजेन टेस्ट, 10-12 मिन्ट में आ जाएंगे कोरोना रिजल्ट, फिलहाल 48 घंटा लग रहा था

340
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

खड़गपुर, खड़गपुर महकमा अस्पताल में कोरोना का एंटीजेन टेस्ट शनिवार से शुरू कर दिया गया है जिसके कारण लोगों में खुशी है। पहले दिन यहां पर 17 लोगों का एंटीजेन टेस्ट किया गया। इस टेस्ट का परिणाम आने में 10-12 निनट लगते है आंधा घंटे के अंदर ही अमूमन परिणाम जारी कर दिया जाएगा। स्टेट अस्पताल के सुपर डा. कृष्णेंदु मुखर्जी ने कहा कि एंटीजेन टेस्ट शुरू हो जाने से काफी सुविधा हुई है। इस टेस्ट को हमलोग और भी तेज गति से पूरा करेंगे। इसके कारण टेस्ट होने पर लोगों को कोरोना है अथवा नहीं। इसका रिपोर्ट भी जल्द ही लोगों को जानने को मिल जाएगा। इससे बीमार लोगों की त्वरित रूप से चिकित्सा भी हो पाएगी। डॊ मुखर्जी ने यह भी कहा कि स्टेट अस्पताल में कोरोना को लेकर एक स्पेशल रूप से एक पर्यवेक्षण वार्ड भी बना दिया गया है। ल पर्यवेक्षण वार्ड बनाया गया है। इमरजेंसी विभाग में आने वाले सभी रोगियों को पहले इस कोरोना पर्यवेक्षण वार्ड में भर्ती कराया जाएगा इसके बाद मरीजों का कोरोना टेस्ट किया जाएगा। रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद मरीजों को सम्बंधित दूसरे वार्डों में भेजा जाएगा, लेकिन रिपोर्ट पॊजिटिव आने के बाद मरीजों को अस्पताल के आइसोलेसन विभाग में भर्ती कर चिकित्सा की जाएगी  ताकि कोरोना का संक्रमण रोका जा सके।

इसके पहले अस्पताल में यह सुविधा न होने से मरीजों समेत मेडिकल स्टाफ को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। क्योंकि इसके पहले अस्पताल में एक गेटकीपर तथा एक महिला रोगी में कोरोना का लक्षण मिलने के बाद यहां मेल व फिमेल मेडिकल वार्ड को बंद करना पड़ा था व अस्पताल के कैंटीन ठेकेदार व उसके सहयोगी के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर कैंटीन को भी बंद करना पड़ा था लेकिन अब अस्पताल में कोरोना पर्यवेक्षण वार्ड बन जाने के बाद किसी भी विभाग को बंद करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। कोरोना पर्यवेक्षण वार्ड में ही कोरोना मरीजों की पहचान कर हमलोग आसानी से इलाज कर पाएंगे। ज्ञात हो कि शनिवार को सबंग के राशन डीलर वृद्ध की मौत के बाद अंत्यपरीक्षण के लिए आने पर उसका एंटीजेन परीक्षण किया गया व दस मिनट में ही परिणाम आने के बाद परिजन को वापस घर भेज दिया गया ताकि सरकारी विधि से वृद्ध का अंतिम संस्कार किया जा सके। ज्ञात हो कि घाटाल व मेदिनीपुर जिला अस्पातल में उक्त सुविधाएं उपलब्ध है प्रति किट में कुल 10 लोगों का टेस्ट हो सकेगा पश्चिम मेदिनीपुर जिले को फिलहाल 500 किट मिला है यानि 5000 लोग इससे लाभांवित होंगे। 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com