मुहर्रम को लेकर खड़गपुर शहर थाना में बैठक संपन्न, अखाड़ा व जुलुस नहीं निकालने तथा जलसा नहीं करने पर बनी सहमति, मुस्लिम प्रतिनिधियों के अलावा कई राजनीतिक दलों के नुमाइंदे भी बैठक में शामिल, कोविड-19 के गाइडलाइन को मानकर घर घर जाकर की जाएगी खिचड़ा वितरण

21

खड़गपुर। मुहर्रम को लेकर खड़गपुर शहर थाना में सोमवार की रात बैठक संपन्न हुई जिसमें अखाड़ा व जुलुस नहीं निकालने तथा जलसा नहीं करने पर सहमति बनी है बैठक में मुस्लिम प्रतिनिधियों के साथ कई राजनीतिक दलों के नुमाइंदे भी शामिल थे जबकि कोविड-19 के गाइडलाइन को मानकर घर-घर जाकर खिचड़ा वितरित की जाएगी। पुरातन बाजार समाज संघ के मो. बिलाल ने बताया कि हमने जुलुस निकालने से मना कर दिया है उन्होने दावा किया कि बीते साल सिर्फ उसी की कमेटि ने जुलुस निकाले थे जिसमें लगभग आठ हजार लोग शामिल हुए थे। इधर गोलखोली के सवारी कमेटि अलावा मैदान में होने वाले करतब जिसमें जलते अलाव पर इंसान चलता है वह भी इस साल नहीं होगा सवारी कमेटि के शेख अलताफ ने भी आयोजन स्थगित रखने पर सहमति जताया है।

खड़गपुर शहर थाना प्रभारी राजा मुखर्जी ने बताया कि इस साल महामारी को देखते हुए सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं होने पर सहमति बनी है सिर्फ लाकडाउन विधि को मानते हुए खिचड़ा प्रसाद घर- घर वितरित होगा। बैठक में एसडीओ वैभव चौधरी, विधायक प्रदीप सरकार, एएसपी काजी शमसुद्दीन अहमद, एसजीपीओ सुकमल कांति दास, शेख हनीफ, जावेद अहमद खान, मो. आरिफ, पूर्व माकपा नेता अनिल दास, माकपा नेता अमिताभ दास, सबुज घोडुई, कांग्रेस के अमल दास, भाजपा  के पीनू उपस्थित थे। सांसद प्रतिनिधि शेख मोईन ने कहा कि देर से आमंत्रण मिलने के कारण वे बैठक में नहीं जा सके।पता चला है कि 21 अगस्त से शुरु होने वाले दस दिवसीय मुहर्रम 30 तक चलेगा। 

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com